चंद्रशेखर और हुमा की मौत अब हमारे लिए कोरोना का सिर्फ नंबर नहीं

प्रभाकर मिश्रा के फेसबुक वॉल से साभार आज मन बहुत उदास है। बहुत डर लग रहा है। पहले खबर आ

और पढ़ें >

पिता का ‘जज बेटा’ क्यों बन गया पत्रकार ?

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश के फेसबुक वॉल से साभार सुबह-सुबह आज ‘बाबू’ की याद आई ! मां-पिता के गये वर्षों गुजर

और पढ़ें >

आत्मनिर्भर बनाना है तो हुनर को पहचानना होगा

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभारइस किसान ने अपनी टूटी सायकिल में स्कूटी का टायर जोड़ कर इसे मोबाइल पम्पसेट

और पढ़ें >

“सर… मेरी बात पहले सुन लीजिए, तब कुछ कहिएगा”

लॉक डॉउन के शुरुआती दिनों से ही मैं विभिन्न संचार माध्यमों से देश के अलग अलग हिस्सों में रह रहे

और पढ़ें >

अन्नदाता से न्यूनतम समर्थन मूल्य का अधिकतम सरकारी छलावा

पुष्यमित्र बारिश से गीली हुई सुबह में जब टहलने निकला तो एक मैदान में मक्के यह ढेर पड़ा मिला। साफ

और पढ़ें >

गर्जना ही तुम्हारी ताक़त है

सुनील श्रीवास्तव रास्ते के पत्थरों को वह मारता है बहुत ताकत से। प्रतिदिन सुबह और शाम जैसे किसी के गुनाह

और पढ़ें >

कोरोना के क्रांतिवीर से माफी

कोरोना काल -7 कोरोना के क्रांतिवीरहो सके तो माफ कर देनातुमक्रांति की बात करोगेऔर हम तलाशेंगेशांति के फायदे तुमअपना करियरदांव

और पढ़ें >

अपनी उदासियों पर लगा लेना एक मास्क!

कोरोना काल- 6 अपनी उदासियोंपर लगा लेनाएक मास्क! जो तुम्हारेशुभचिंतक हैंवो कर लेंगेउदासियों का हिसाब! तीन लेयर वाले मास्कके भीतर

और पढ़ें >