गठबंधन टूटने के बाद सुशील मोदी के साथ नीतीश कुमार ।

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई। सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं । देश के, विशेष रूप से बिहार के उज्जवल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ एक होकर लड़ना,आज देश और समय की माँग है- नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

हमने जो निर्णय लिया उसपर माननीय प्रधानमंत्री @narendramodi के ट्वीट के द्वारा दी गई प्रतिक्रिया के लिए उन्हें तहेदिल से धन्यवाद । वक्त आने पर सबका जवाब दूंगा । इस माहौल में सरकार में बने रहना मेरे लिए मुश्किल था। मैंने तेजस्वी से इस्तीफा नहीं मांगा लेकिन अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा था- नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री, बिहार

हमारे ऊपर भ्रष्टाचार के तथाकथित आरोप पहले से ही थे। क्या गठबंधन करते और सरकार बनाते वक़्त नीतीश कुमार नहीं जानते थे?- लालू प्रसाद यादव, अध्यक्ष, आरजेडी

नीतीश कुमार ने लालू की बेनामी सम्पत्ति और करप्शन के मुद्दे पर घुटना नहीं टेका और इस्तीफ़ा दे दिया । अभिनंदन है, फिर बिहार को विकास के रास्ते पर ले जाएंगे – सुशील कुमार मोदी, डिप्टी सीएम

बिहार ने नितीशजी को anti communal लड़ाई लड़ने के लिए mandate दी, लेकिन नीतीश जी अपनी personal politics के लिए उन्हीं लोगों से गले लग गए। अपने स्वार्थ के लिए आदमी कुछ भी कर जाता है- कोई नियम नहीं है, कोई credibility नहीं है, सत्ता के लिए कुछ भी कर देते हैं- राहुल गांधी, उपाध्यक्ष, कांग्रेस

ना ना करते, प्यार तुम्हीं से कर बैठे…करना था इंकार मगर इक़रार तुम्हीं से कर बैठे- अखिलेश यादव, पूर्व सीएम, यूपी
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने नीतीश कुमार को बधाई देते हुए ट्वीट किया- Congrats to CM @NitishKumar ji & Dy CM @SushilModi ji for unitedly standing against corruption & putting Bihar back on the path of progress.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के ट्विटर वॉल से ।

बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में नई पारी शुरू करने के लिए श्री नीतीश कुमार को हार्दिक बधाई. पारदर्शिता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता सराहनीय है । बिहार के उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए श्री सुशील मोदी जी को बधाई. प्रदेश को नई ऊँचाई पर ले जाने में उनका सहयोग महत्वपूर्ण होगा- राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री

एक बार फिर से बिहार में राज्यपाल जी ने सरकारिया कमीशन और सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन किया है। Single largest party RJD को मौक़ा नहीं दिया गया है। BJP का प्रजातंत्र में विश्वास ना पहले था ना अब है। इस कृत्य के लिए धिक्कार है- दिग्विजय सिंह, महासचिव, कांग्रेस

 

संबंधित समाचार