Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 3

चौपाल

गुरु बंसी कौल ने अपने गुरु से यूं जोड़ दिया नाता

पशुपति शर्मा शिक्षक दिवस पर तमाम गुरुजनों को नमन। इस बार रंगकर्म के गुरु बंसी कौल से जुड़ी कुछ यादें शेयर कर रहा हूं। गुरु जो आदेश दे, उसे पूरा…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

दुष्यंत के शहर में, दुष्यंत की तासीर अभी बाक़ी है !

राजेश बादल एक सितंबर को दुष्यंत कुमार संग्रहालय में सबने दिल की गहराइयों से दुष्यंत को याद किया। रात देर तक सोचता रहा कि चालीस बरस पहले उन्होंने अपनी रचनाओं…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

कोसी में जल प्रलय के 11 बरस और डरे-सहमे लोग

फाइल फोटो पुष्यमित्र इन दिनों 2008 की कोसी बाढ़ के इलाके में घूम रहा हूं। यह इलाका नेपाल से सटा है और भीमनगर बराज के भी पास है। 2008 की…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहिम और ट्रेन में बीतता एक बेटी का बचपन

आशीष सागर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ सुनने में ये स्लोगन काफी अच्छा लगता है, लेकिन इसको साकार करने के लिए हमारा सिस्टम कितना संजीदा है इसको अगर समझना हो तो कभी…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

विंध्य की पहाड़ियों में आस्था और पर्यटन का अद्भुत संगम

पुरु शर्मा विंध्याचल पर्वत श्रृंखलाओं की रमणीय वादियों की गोद में बसा अलौकिक शक्ति और आस्था का केंद्र करीला धाम। कंकरीट के जंगल और शहर के कोलाहल से दूर, शांतिमय…
और पढ़ें »
आईना

रंगकर्मी प्रसन्ना को ‘कारवां-ए-हबीब सम्मान’

वर्ष 2019 के 'कारवां-ए-हबीब सम्मान' के लिये हम सबके प्रिय रंगकर्मी, निर्देशक, गांधीवादी चिंतक एवं एक्टिविस्ट प्रसन्ना को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। कारवां-ए-हबीब तनवीर और विकल्प साझा मंच, दिल्ली द्वारा…
और पढ़ें »
चौपाल

राजनीतिक ‘गैंगवार’ की दहलीज पर खड़ी देश की सियासत !

फाइल फोटो-सभारा नयोदय टाइम्स राकेश कायस्थ अगर आप हिंदी फिल्में देखते हैं तो कर्मा के डॉक्टर डैंग का किरदार याद होगा। वही डॉक्टर डैंग जिसे जेलर बने दिलीप कुमार ने…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

‘संक्राति काल’ में कवि नेमि गाते हैं!

नटरंग प्रतिष्ठान की ओर से तीन दिवसीय नेमि शती कार्यक्रम का दिल्ली में आयोजन। सत्येंद्र कुमार यादव अपनी शर्तों पर चलना आसान नहीं होता। सामाजिक मान्यताओं, धारणाओं को तोड़ना सबके…
और पढ़ें »
आईना

नेमिजी के होने न होने के 100 बरस

रवीन्द्र त्रिपाठी नेमि शती समारोह के दौरान पुस्तक विमोचन। किसी बड़े रचनाकार की जन्मशती के मौके पर ये सवाल उठ सकता है कि उसे किस रूप में याद रखा जाए?…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

पहाड़ के खिलाड़ियों के लिए खुशखबरी

बीडी असनोड़ा उत्तराखंड को बीसीसीआई की मान्यता मिल गई है। खुशी के साथ बहुत भावुक करने वाला क्षण है। 9 नवंबर 2000 को जब उत्तराखंड बना तो राज्य की अपनी…
और पढ़ें »