Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 3

बिहार/झारखंड

जब मैंने पहली बार कर्पूरी ठाकुर को देखा और सुना

ब्रह्मानंद ठाकुर साल तो ठीक याद नहीं, शायद 1964-65 रहा होगा। मैं अपने गांव के बेसिक स्कूल में छठी कक्षा का विद्यार्थी था। नवम्बर का महीना था। मौसम भी खुशगवार।…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सिर्फ नेता नहीं, कांग्रेस को नीति भी बदलनी होगी

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश के फेसबुक वॉल से साभार प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने का तात्कालिक तौर पर पूर्वी उत्तरप्रदेश में कांग्रेस की स्थिति पर जितना असर पड़ेगा, उससे…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

‘आज देश में पूंजीवाद विरोधी समाजवादी क्रांति की ज़रूरत है’

ब्रह्मानंद ठाकुर 'मां, आपके मतानुसार हमारी शिक्षा का उद्देश्य क्या है ? बड़े हो जाने पर हमें किस काम में लग जाने पर आपको सर्वाधिक खुशी होगी ? न जाने…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

देश की सेहत सुधारने के लिए एक डॉक्टर का अनशन

अरुण यादव फेसबुक पर सर्च करते वक्त अचानक एक तस्वीर पर नजर टिक गई । जिसमें एक शख्स हाथ में तख्ती लिए हुए है और उस पर लिखा है हर…
और पढ़ें »
गांव के रंग

नदी का किनारा और सुबह का सौंदर्य

पुरु शर्मा सुबह घूमना मुझे हमेशा से ही सुहाता रहा है। प्रकाश के आभाव में जब अंधकार का साम्राज्य बढ़ता है तब उम्मीद की रौशनी लेकर निकलता है सूरज। सूर्य…
और पढ़ें »
चौपाल

राष्ट्रीय परिदृश्य पर हावी संकीर्ण और जनविरोधी सोच

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश के फेसबुक वॉल से साभार किसी की बीमारी पर कटाक्ष नहीं होना चाहिए। किसी को भी बद्दुआ नहीं, हर किसी को शुभकामना देनी चाहिए। बीमारी तो किसी…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

दलित आंदोलन का नीला ‘आकाश’

बसपा प्रमुख मायावती ने जब इस बात की पुष्टि कर ही दी है कि उनका भतीजा आकाश आनंद अब पार्टी के आंदोलन से जुड़ेगा तो क्या अब ये नहीं मान…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

सिर्फ कानून नहीं सोच में भी बदलाव लाने की ज़रूरत

शिरीष खरे तीन तलाक विधेयक पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पक्ष बहुत स्पष्ट है। संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी इंद्रेश कुमार का कहना है कि इस प्रकार की कुप्रथा से…
और पढ़ें »
आईना

शिक्षा के बिना अधूरा है आधी आबादी के सम्मान का सपना

शिरीष खरे आज हम सियासी फायदे के लिए कुछ भी करने के तैयार हैं, लेकिन आधी आबादी को उसका हक वास्तव में मिले, इसको लेकर सरकार या फिर हमारा समाज…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

गठबंधन का ‘सत्तारायण’

यूपी में करीब 25 साल बाद ऐसा संयोग बना है जिसमें सपा और बसपा दोनों पार्टियां एक साथ गठबंधन के घर में प्रवेश कर चुकीं हैं। इस अभूतपूर्व घटना के…
और पढ़ें »