ब्रह्मानंद ठाकुर

आखिर कहां है मेरा लाल ? जिंदा भी है या दरिंदों ने उसकी हत्या कर समुद्र में फेंक दिया ? कोई मुझे मेरे बेटे का पता लगा दे। ये अल्फाज है उदय रंजन की मां का। पिछले चार दिन से मां ने जब से मलेशिया में उदय रंजन के लापता होने की ख़बर ख़बर सुनी है तब से बेसुध है । जब भी होश आता है ‘’मुझे मेरे बेटे से मिलवा दो’’…कहते कहते बार-बार बेहोश हो जाती है । पड़ोस की महिलाएं उसे सम्भालने की कोशिश करती है लेकिन दुख इतना बड़ा है कि कोई दिलासा काम नहीं आ रही । बेटे की गुमशुदगी की ख़बर से पिता सुनील कुमार श्रीवास्तव और बड़ा भाई रविरंजन बदहवास है। मुजफ्फरपुर जिले के बंदरा प्रखंड के बड़गांव के रहने वाले सुनील श्रीवास्तव का छोटा बेटा 20 साल का उदय रंजन मलेशिया में मर्चेंट नेवी में काम करता था । मंगलवार को उदय के एक दोस्त ने मलेशिया से पिता सुनील को फोन किया और बताया कि उदय रंजन पैर फिसलने से नदी में गिर गया और फिर लापता हो गया । मलेशिया में उदय रंजन के गायब होने की ख़बर जब से घर वालों को मिली है पूरा इलाका सदमे में है । परिवार वालों ने डीएम से गुहार लगाई और कि उनके बेटे का पता लगाया जाए । साथ ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी पत्र भेजकर पूरे मामले पर संज्ञान लेने की अपील की है ।

उदय रंजन के पिता गांव में अपने मृदु स्वभाग की वजह से काफी चर्चित हैं । बड़ी मुश्किलों से उन्होंने उदय रंजन को अच्छी शिक्षा दी । उदय ने पर्सनल सर्वाइवल टेक्निक्स, एलिमेन्ट्री फर्स्ट एड, पर्सनल सेफ्टी एन्ड सोशल रिस्पान्सिब्लिटीज  और सिक्युरिटी ट्रेनिंग फॉर सी फेयर्स विथ डिजाइनेटेड सिक्युरिटीज की डिग्री ली और पिछले साल अगस्त में  मलेशिया चला गया और सी मैन के रूप में काम शुरू किया । बाद में इस कम्पनी को छोड़ उदय ने इस साल 6 जून को मलेशिया में ही योंग हिंग ग्रैवल एस डी एनबीएचडी जलानलैनंग शिवू में योंग हिंग 12 जहाज पर बतौर सुपरवाइजर काम-काज शुरू किया । नई कंपनी में ज्वाइन करने की ख़बर से पूरा परिवार काफी खुश था लेकिन उन्हें क्या पता कि कुछ दिन बाद ही उन्हें बेटे की ऐसी ख़बर मिलेगी ।

तीन दिन से पूरा परिवार डीएम ऑफिस के चक्कर काट रहा है ताकि उसके बेटे की सही ख़बर मिल सके । क्योंकि परिवार को अभी ये भी नहीं पता कि उनके बेटे के गायब होने की असल वजह क्या है । परिवार वालों ने बेटे की हत्या की भी आशंका जाहिर की है साथ ही राज्य सरकार और भारत सरकार से मामले में दखल देने की गुजारिश की है ताकि उनके बेटे का कुछ पता चल सके । इस बीच मुजफ्फरपुर की रहने वाली गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को भी उदय रंजन के गायब होने की सूचना दी गई है उन्होंने इस बारे में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात करने का भरोसा दिया है । अब देखना ये है कि विदेश में फंसे भारतीयों के लिए मसीहा मानी जाने वाली सुषमा स्वराज मुजफ्फरपुर के लाल की सुध कब लेती है।


ब्रह्मानंद ठाकुर/ BADALAV.COM के अप्रैल 2017 के अतिथि संपादक। बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर के निवासी। पेशे से शिक्षक। मई 2012 के बाद से नौकरी की बंदिशें खत्म। फिलहाल समाज, संस्कृति और साहित्य की सेवा में जुटे हैं। गांव में बदलाव को लेकर गहरी दिलचस्पी रखते हैं और युवा पीढ़ी के साथ निरंतर संवाद की जरूरत को महसूस करते हैं, उसकी संभावनाएं तलाशते हैं।