Author Archives: badalav - Page 3

माटी की खुशबू

गांधी और ग्रामीण पत्रकारिता पर चर्चा के लिए कल पटना आइए

पुष्यमित्र आप लोगों को याद होगा कि कुछ दिन पहले इस आयोजन की चर्चा की थी। यह कल है। विनय तरुण अपना साथी था। ठीक वैसा ही पत्रकार था, जैसे…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

‘चमकी’ से लड़ने गांव-गांव तक पहुंच रहे ‘देवदूत

ब्रह्मानंद ठाकुर चमकी बुखार  की बीमारी गरीब महादलित परिवार के बच्चों के लिए इस बार काल बन  कर आई है। मुजफ्फरपुर जिले के गांवों में अबतक इस बीमारी से 150…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

चमकी बुखार : छोटी पहल, बड़ी मदद

पुष्यमित्र आनन्द दत्ता की जितनी भी तारीफ की जाये कम है। एक बेहतरीन पत्रकार, फोटोग्राफर, मैं शायद कभी इनसे ठीक से मिल नहीं पाया। रांची में रहते हैं। चमकी बुखार…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मुजफ्फरपुर के लिए ये लोग किसी ‘देवदूत’ से कम नहीं !

पुष्य मित्र आनन्द दत्ता मुजफ्फरपुर पहुंच गये हैं। एसकेएमसीएच में आज से मरीजों के परिजनों के लिये भोजन की व्यवस्था शुरू हो जायेगी।वॉटर प्यूरीफायर लगवाने के लिये अस्पताल प्रबंधन से…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मुजफ्फरपुर के गांवों में हमारे साथी पहुंचा रहे जरूरी सामग्री

पुष्य मित्र मंगलवार को हमारी टीम मुजफ्फरपुर में कांटी के हरिदासपुर, छत्तरपट्टी गाँव में थी।लोगों को जरूरी सूचना के साथ-साथ ग्लूकोज, ओआरएस और थर्मामीटर भी दिया गया है। कुल 200…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

मुजफ्फरपुर आइए और मदद कीजिए

पुष्यमित्र मुजफ्फरपुर को लेकर आप बहुत परेशान हैं? अगर हां तो इनमें से एक काम कीजिये- 1. सीधे मुजफ्फरपुर आईये, किसी गांव में रुक कर गरीब लोगों को कुछ थर्मामीटर…
और पढ़ें »
आईना

फूल और पत्तियां

पशुपति शर्मा/ आज फूल कर रहे थे बातें गुलाब, अपने रूप पर इतरा रहा था गेंदा, अपने गुणों का बखान कर रहा था सूरजमुखी, सूरज को ताक रहा था बाग…
और पढ़ें »
सुन हो सरकार

सबसे ज्यादा बेटियों को लील रही है चमकी… साथी हाथ बढ़ाना

बिहार: AES से मरने वालों में ज्यादातर गरीब हैं, गरीबों में भी ज्यादातर महादलित परिवार के लोग हैं और उनमें भी सबसे अधिक बेटियां। 3 जून से शुरू हुआ मुजफ्फरपुर…
और पढ़ें »
गांव के नायक

55 घंटे बाद ‘मां’ ने पुकारा… बेटी को मेरी गोद में दे दो !

'क्या मुझे इस बच्ची के बारे में कोई जानकारी दे सकता है ? हम गोद लेना चाहेंगे'… 14 जून 2019, दोपहर 12 बजकर 3 मिनट पर एक वीडियो देखने के…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

पत्रकारों की गिरफ्तारी ‘दमनकारी नीति’ का हिस्सा तो नहीं ?

पुष्य मित्र कई बार कुछ खबरें आपको बहुत कुछ बोलने पर मजबूर कर देती है, वहीं कुछ खबरें सन्नाटे में धकेल देती है। रुपेश कुमार सिंह की गिरफ्तारी की खबर…
और पढ़ें »