Author Archives: badalav - Page 3

सुन हो सरकार

घरेलू गैस का सिलिंडर, सब्सिडी और मन का धोखा

पुष्यमित्र क्या आपको पता है कि आप अपने घरेलू गैस सिलिंडर की कितनी कीमत चुका रहे हैं? जब से खाते में सब्सिडी ट्रांसफर होने का दौर शुरू हुआ है, हममें…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

मुजफ्फरपुर जिले के सभी प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग

बदलाव प्रतिनिधि, मुजफ्फरपुर जिले के प्रगतिशील किसानों की बैठक 22 अक्टूबर को शहीद खुदीराम बोस - प्रफुल्ल चाकी स्मारक स्थल ,मुजफ्फरपुर मे आयोजित की गई। बैठक में किसान हित में…
और पढ़ें »
आईना

मीटू के असल मायने क्या हैं ?

कुमार प्रशांत ‘मीटू’ अब महज एक शब्दभर नहीं है, एक नया सहचारी भाव हमारे जमाने में दाखिल हुआ है। इसका मतलब यही नहीं है कि लड़कियां आगे आकर बताएं कि…
और पढ़ें »
गांव के रंग

ओम बाबू ! आपकी हर अदा के हम कायल हैं

पशुपति शर्मा नशे में है कौन नहीं और किसमें है नशा नहीं है नशा उन्हीं में जो कहते मुझमें नशा नहीं। नवोदय विद्यालय पूर्णिया का वो छरहरा साथी, जिसकी जुबान/लेखनी…
और पढ़ें »
आईना

मी टू का रायता

डा. सुधांशु कुमार इधर मी-टू ने पाँच-दस दिनों में जितना रायता फैला कर दस-बीस लोगों की साँस साँसत में डाल दी , उतना रायता तो बेचारे साठ पार 'दिग्गी' तीस…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

हर दशहरे पर निगाहें तलाशती हैं नीलकंठ

धीरेंद्र पुंडीर दशहरा और नीलकंठ। "नीलकंठ तुम नीले रहियो हमारी बात राम से कहियो"। पता नहीं कि अब हमको अपनी बात भगवान राम तक पहुंचानी है या नहीं। दशहरे पर सुबह-सुबह…
और पढ़ें »
आईना

जनता बेहाल, कारोबारी मालामाल, वाह रे अच्छे दिन वाली सरकार !

शुरुआत से ही मोदी सरकार को विपक्षी पार्टियों ने सूट-बूट वाली सरकार का तमगा दिया तो ऐसा लग रहा था ये सिर्फ विरोध करने के लिए विपक्षी दलों का शिगूफा…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

आस्था का बाज़ारीकरण और आडंबरों का बाज़ार

ब्रह्मानंद ठाकुर पिछले 9 दिनों से हर तरफ दुर्गा पूजा की धूम रही । क्या शहर क्या गांव हर तरफ आलीशान पंडाल हर किसी का मन मोहने के लिए काफी…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

भावना का रेगुलेटर कहां है?

राकेश कायस्थ भावना में भगवान बसते हैं। इसलिए भक्त बहुत भावुक होते हैं। राफेल का मामला उछला तो मुझे लगा कि भावुक भक्त भगवान से कहेंगे— कह दीजिये यह झूठ…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

ऑफ करना सीख लो, नहीं तो खुद ऑफ हो जाओगे

टीम बदलाव 'इंटरनेट क्रांति ने हमें एक अलग किस्म का इंसान बना दिया है, हम वर्चुअल वर्ल्ड में तो शेर बन जाते हैं, मगर असली दुनिया का सामना करते ही…
और पढ़ें »