Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 72

बंज़र ज़मीन पर लहलहाएंगी उम्मीदें… चलते रहो साथी

योगेंद्र यादव के फेसबुक वॉल से सूखा महाराष्ट्र और यूपी ही नहीं बल्कि राजस्थान की धरती का सीना भी चीर रहा है । संवेदना यात्रा के साथियों के साथ यूपी…
और पढ़ें »

किसे रास आएगा सियासत का ‘साझा चूल्हा’ ?

फोटो- अजय कुमार की फेसबुक वॉल से देवेंद्र शुक्ला बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का प्रचार थम चुका है लेकिन बाकी तीन चरणों के लिए वार-पलटवार जारी । खास…
और पढ़ें »

पहले शौचालय या देवालय… एक बार ‘जनार्दन’ से पूछिए

पुष्यमित्र जहानाबाद का बरहट्टा गांव । फोटो-पुष्यमित्र मखदुमपुर विधानसभा से किस्मत आजमा रहे हैं पूर्व सीेएम जीतनराम मांझी। जहानाबाद शहर से सिर्फ चार किमी दूर है बरबट्टा गांव। मुख्य सड़क के…
और पढ़ें »

बुलंद कम क्यों है बुंदेलखंड की आवाज़ ?

बुंदेलखंड के किसान के साथ योगेंद्र यादव योगेंद्र यादव के फेसबुक वॉल से आंखें देख पाती उससे पहले ही गाड़ी ने हिला-हिला कर बता दिया कि हम बुंदेलखंड पहुँच चुके…
और पढ़ें »

किसान क जिंदगी मुआर हो गईल…!

अजय कुमार की फेसबुक वॉल से कोसी की तस्वीर सत्येंद्र कुमार यूपी में पंचायत और बिहार में विधानसभा चुनाव जारी है। हर घर बिजली, सड़क, सिंचाई, शिक्षा की बात हर…
और पढ़ें »

पिंडी में गांव की गरिमा का महोत्सव

  सत्येंद्र कुमार पिंडी महोत्सव, फोटो- बृजेश धर दुबे तेरे शहर से तो कहीं अच्छा है मेरा गांव। चमक रहा है, दमक रहा है, महक रहा है। दिल्ली में रहकर…
और पढ़ें »

बिहार में किसकी बयार ?

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण की वोटिंग का काउंटडाउन शुरू हो चुका है । सियासी दल चुनाव प्रचार के लिए हर हथकंडे अपना चुके हैं। बयानबाजी की बात…
और पढ़ें »

कोची-कोची का इलाज करेंगे डागडर बाबू, पूरा बिहारे बीमार है

पुष्यमित्र सुपौल के पचगछिया गांव से इलाज के लिए जमील पटना आए हैं। फोटो-पुष्य इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) के विशाल गलियारे के डिवाइडर पर बैठे मिले 83 साल के जमील…
और पढ़ें »

‘स्मार्ट मोबाइल’ जैसे ‘स्मार्ट विलेज’, जुमले हैं… जुमलों का क्या?

दिवाकर मुक्तिबोध अमेरिका में मोदी। फोटो-पीआईबी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हाल ही में अमेरिका के दौरान भारत के डिजिटल भविष्य पर लंबी चौड़ी बातें हुईं। कुछ वायदे हुए, कतिपय घोषणाएँ…
और पढ़ें »

बांदा के बंदों की सेहत का ‘रखवाला’ कौन?

आशीष सागर दीक्षित फोटो-आशीष सागर दीक्षित बेदम सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं से कराह रहा है बुंदेलखंड का पूरा क्षेत्र। बिना फार्मेसिस्ट के चल रहे मेडिकल स्टोर, गैर पंजीकृत नर्सिंग होम और झोलाछाप…
और पढ़ें »