Archives for बिहार/झारखंड - Page 11

बिहार/झारखंड

एक महान साहित्यकार की दम तोड़ती विरासत !

ब्रह्मानंद ठाकुर मुज़फ्फरपुर जिले के औराई प्रखण्ड में आने वाले जनाढ पंचायत का एक गांव है बेनीपुर जो समाजसेवी, पत्रकार और साहित्यकार बेनीपुरी के नाम पर पड़ा है । 23…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

पटना में प्रकाशोत्सव की रौनक

पुष्यमित्र पटना साहिब दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है । हर तरफ प्रकाशोत्सव की तैयारियां चल रही हैं । आखिर गुरु गोविंद सिंह की 350वीं वर्षगांठ जो है ।…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

8 घंटे की नौकरी और पगार महज 42 रुपये

ब्रह्मानंद ठाकुर मुंशी प्रेमचंद की कहानी सद्गति का किरदार घासीराम हो या फिर रामवृक्ष बेनीपुरी के ‘कहीं धूप कहीं छाया’ का 'बाबू साहेब’ दोनों तत्कालानी सामंतवादी सोच के वाहक थे…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मधेपुरा में सोशल मीडिया पर बड़ी बहस

रूपेश कुमार सोशल मीडिया जनक्रांति का सशक्त माध्यम है। जिस गति से समाज बदल रहा है उसमें सोशल मीडिया की भूमिका अहम है। समाज का हर वर्ग इस पर क्रेंदित है।…
और पढ़ें »

खुद खाली पेट और वो चलाते हैं ‘एक रोटी अभियान’

पुष्यमित्र दुनिया अच्छे लोगों से खाली नहीं हुई है। दिलचस्प बात यह है कि आप महानगर छोड़ कर बाहर निकलें आपको ऐसे लोग कदम-कदम पर मिल जाते हैं। ऐसे ही…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

सुनिए प्रेमचंद, आधुनिक होरियों की पीड़ा गाथा

ब्रह्मानंद ठाकुर प्रख्यात उपन्यासकार कथाकार मुंशी प्रेमचंद के गोदान का होरी आज भी भारत के खेत -खलिहानो में जिन्दा है। अपने जिन्दा रहने की कीमत वह खेतों में माथा और…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

नोटबंदी की ‘सियासी मंडी’ में अन्नदाता की सुध किसे ?

ब्रह्मानंद ठाकुर  किसानों के खून-पसीने से उपजाई गयी फसल जब कौडियों के मोल बिकने लगे तो उनका दर्द समझना सब के लिए आसान नहीं होता। कभी-कभी जीवन में बहुत कुछ…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

एक और हादसा… हादसे की लिस्ट में दर्ज कर भूल जाइए!

कानपुर ट्रेन हादसे की शिकार बच्ची । परिजनों की तलाश । सौम्या सिंह रेल दुर्घटना, ये शब्द कान में जाते ही सबसे पहले क्या याद आता है आपको ? अच्छा…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

किराये की कोख के लिए हो रही झारखंडी किशोरियों की तस्करी

पुष्यमित्र चित्र-गौरव पटना के एक संस्थान में सरिता(परिवर्तित नाम) बैठी हैं. उसकी आंखें डबडबायी हुई हैं. वह उस खबर का सामना करने के लिए खुद को तैयार नहीं पा रही…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बहन पर भाई के भरोसे की जीत और सामा चकेवा

पुष्यमित्र एक चुगलखोर व्यक्ति राजा कृष्ण से कहता है कि तुम्हारी पुत्री साम्बवती चरित्रहीन है। उसने वृंदावन से गुजरते वक्त एक ऋषि के साथ संभोग किया है। कृष्ण अपनी पुत्री…
और पढ़ें »