Archives for माटी की खुशबू - Page 2

माटी की खुशबू

गाय के नाम पर हिंसा का कारोबार बंद हो

ब्रह्मानंद ठाकुर बीफ को लेकर हमारे देश में सियासत का घमासान जारी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सार्वजनिक मंच से इस मामले में भले ही गो-रक्षकों की चाहे जितनी लानत मलानत…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

आजादी की गौरवपूर्ण गाथा सिर्फ रस्म अदायगी से नहीं बचेगी

ब्रह्मानंद ठाकुर आज पूरा देश स्वतंत्रता दिवस की सालगिरह मना रहा है। सरकारी, अर्धसरकारी संस्थाओं से लेकर निजी संस्थानों तक इस अवसर पर समारोहों की धूम मची हुई है। सभी…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

परवाह नहीं, हम पंछी उन्मुक्त गगन के…

सच्चिदानंद जोशी फेसबुक, 30 जुलाई, 2017। पहली हवाई यात्रा, जी नही मैं अपनी पहली हवाई यात्रा की बात नहीं कर रहा हूँ। हालांकि उसका किस्सा भी मजेदार है, लेकिन वो फिर…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

मन तृप्त कर देते हैं गोवर्धन के रोटी वाले बाबा

पंकज त्रिपाठी जीवन में लक्ष्य निर्धारित करने के लिए हम सब सफ़र करते हैं, लेकिन सफ़र ही मंज़िल बन जाए तो इसे क्या कहेंगे? बस यही है उस क़लंदर की ज़िंदगी…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

‘सुन्नर नैका’-तटबंधों को तोड़ती एक प्रेम कथा

 पशुपति शर्मा सुन्नर नैका। कोसी मइया की धाराओं और उसके प्रवाह की तरह कई तरह की अनिश्चितताओं और आवेग के साथ आगे बढ़ती कथा है। कोसी मइया को लेकर प्रचलित लोक…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

फावड़े वाली जाटनी देख बड़ा गर्व होता है!

श्याम सुंदर ज्याणी फेसबुक पोस्ट, 11 जुलाई 2017। जाट को धरतीपुत्र इसलिए कहा जाता है क्योंकि जाट-जाटनी कंधे से कंधा मिलाकर धरती माँ से अन्न उपजाते हैं। पेड़ और पर्यावरण…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

सीए की पढ़ाई छोड़ ‘गोबर के गणित’ में मारी बाजी

साभार- इफको लाइव हौसला और हुनर हो तो इंसान क्या कुछ नहीं कर सकता। यूपी के बरेली का एक होनहार सीए की पढ़ाई पूरी करने की बजाय खेत में पसीना बहाने…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

घाघ से बूझो मन-मौसम का हाल

ब्रह्मानंद ठाकुर फोटो सौजन्य- अजय कुमार कोसी बिहार आज मौसम विज्ञान की बदौलत मौसम से जुड़ी जानकारी हासिल करना काफी हद तक आसान हो गया है। ये सब मुमकिन हुआ…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

वाघा बॉर्डर- सरहद के उस पार बसती हैं कुछ यादें

अंकिता चावला प्रुथी फेसबुक पोस्ट, 26 जून 2017। आज की लिस्ट में जो ख़ास रहा वो था वाघा बार्डर जाना। जब मैं पिछले बार अमृतसर आई थी तो वाघा नहीं…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

ध्यानपुर धाम में आपका स्वागत है!

अंकिता चावला प्रुथी गुरुदासपुर ज़िले का एक छोटा-सा कस्बा है ध्यानपुर। कस्बा छोटा है पर इस का नाम पंजाब, हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर के कई लोगों के लिए ख़ास मायने रखता…
और पढ़ें »