Archives for चौपाल - Page 22

बिना बिजली के चुनावी ‘करंट’ दौड़ रहा है!

अरविंद पांडेय बाहर लालटेन जल रही है...जो छज्जे पर लगे हुक के सहारे टांग दी गई है। रोशनी इतनी ही है कि चेहरे के अलावा कुछ देखने के लिए आंखों…
और पढ़ें »

‘जनता की राजधानी’, ये लड़ाई इतनी आसान भी नहीं

गैरसैंण, उत्तराखंड पुरुषोत्तम असनोड़ा उत्तराखण्ड की 'जनता की राजधानी' के नाम से विख्यात गैरसैंण में 2 नवम्बर से आयोजित विधान सभा सत्र पक्ष-विपक्ष के हो-हल्ले, आरोप-प्रत्यारोप से आगे नहीं बढ…
और पढ़ें »

इस ‘घाव’ को अब पक ही जाने दें!

सचिन कुमार जैन फोटो-सचिन कुमार जैन के फेसबुक वॉल से मैं दिल से चाहता हूँ कि बिहार में उनकी जबरदस्त जीत (विजय नहीं) हो। मैं चाहता हूँ कि वे मांस पर…
और पढ़ें »

चुनावी महाभारत ‘बेईमान’… फिर भी नेताजी ‘अच्छे आदमी’ !

पुष्यमित्र शिकवा शिकायत क्या बतियाएं, वोटिंग कर दे रहे हैं। फोटो साभार- बीबीसी “हमारे यहां के चुनावी माहौल के बारे में क्या जानना है? यह बात तो लगभग जग-जाहिर है…
और पढ़ें »

सुनपेड की ‘दबंग कथा’ पर मीडिया से ‘दबंग’ सवाल

धीरेंद्र पुंडीर हर घटना एक दम LIVE। आंखों के सामने। सच का सच। दूध का दूध, पानी का पानी। शीशे की तरह साफ। ये सब अलग अलग मीडिया की टैगलाइन…
और पढ़ें »

ये प्रतिरोध की संस्कृति को सलाम करने का वक़्त है

मौजूदा प्रतिरोध की गूंज के अगुआ रहे उदय प्रकाश प्रियदर्शन एक खूंखार, लथपथ समय में गलत के विरोध की हर पहल स्वागत योग्य है। जो इस पर सवाल उठाते हैं वे…
और पढ़ें »

गाय ‘माता’ के नाम पर बंद करो लड़ाई

कुमार सर्वेश गाय इस धरती पर सबसे प्यारा और पवित्र पशु है। भारतीय समाज में गाय को परिवार का एक हिस्सा माना जाता रहा है। गाय को हिंदू परंपरा में…
और पढ़ें »

किसान क जिंदगी मुआर हो गईल…!

अजय कुमार की फेसबुक वॉल से कोसी की तस्वीर सत्येंद्र कुमार यूपी में पंचायत और बिहार में विधानसभा चुनाव जारी है। हर घर बिजली, सड़क, सिंचाई, शिक्षा की बात हर…
और पढ़ें »

इस बार जवाब देगा जेपी का बिहार

अरुण प्रकाश बिहार वही है। संपूर्ण क्रांति की अलख जगाने वाला बिहार। धीरे-धीरे समाजवाद आई बबुआ। समाजवाद तो नहीं आया अलबत्ता सियासत संप्रदायवाद के सम पर ज़रुर आ गिरी। केंद्रीय…
और पढ़ें »