Tag archives for विनोद कापड़ी

आईना

मिस टनकपुर से बेबी पीहू तक, एक जिद की जीत

विनोद कापड़ी कहानी और पीहू दोनों मिल चुकी थी। प्रोड्यूसर मिलना बाक़ी था। एक और बेहद मुश्किल काम। मुंबई में अलग-अलग स्टूडियोज़ और प्रोड्यूसर से मिलना-बात करना शुरू किया। जो…
और पढ़ें »
चौपाल

16 नवंबर को बड़े पर्दे पर नटखट पीहू का ‘विनोद’ और रोमांच

सत्येंद्र कुमार यादव 2016 की बात है । उस वक्त मेरा बेटा अथर्व करीब 2 साल का होगा। उसकी मां कुसुम बॉथरूम में थी और अथर्व ने खेल-खेल में बाहर…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

33 साल बाद आज तू फिर आ गया…!

ऐसे बहुत कम ननिहाल होते हैं , जहाँ ना माँ होती है। ना मामा और ना नानी होती है लेकिन मैंने आज ऐसा ही एक ननिहाल तक़रीबन 33 साल बाद…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

दरमा घाटी जाएं तो कुछ टॉफी चॉकलेट जरूर ले जाएं

विनोद कापड़ी के फेसबुक वॉल से दरमा घाटी की सैर जितनी यादगार है, उससे कहीं ज्यादा रोमांचकारी। रास्ता जितना दुर्गम है उतना ही दिलचस्प भी । पिछले दिनों वरिष्ठ पत्रकार…
और पढ़ें »
गांव के नायक

12 हज़ार फीट की ऊंचाई पर बसे दांतू गांव की ‘अन्नपूर्णा’

अशोक पांडे के फेसबुक वाल से हिमालय की गोद में बसी एक ऐसी घाटी जहां पहुंचने के लिए आपको करीब 12 हजार फीट की ऊंचाई तक जाना पड़ता है ।…
और पढ़ें »

कापड़ीजी, एक तोता गरिया रहा है- हमरा नंबर कब ?

सत्येंद्र कुमार बड़े पर्द के बाद 22 अक्टूबर, शाम 8 बजे STAR GOLD HD पर फिर 'मिस टनकपुर' मिली और मुझे गांव की ओर लेकर चली गई। ठीक उसी तरह…
और पढ़ें »