Tag archives for विनय तरुण स्मृति व्याख्यान

माटी की खुशबू

गांधी और ग्रामीण पत्रकारिता पर चर्चा के लिए कल पटना आइए

पुष्यमित्र आप लोगों को याद होगा कि कुछ दिन पहले इस आयोजन की चर्चा की थी। यह कल है। विनय तरुण अपना साथी था। ठीक वैसा ही पत्रकार था, जैसे…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

23 जून को पटना में विनय तरुण स्मृति कार्यक्रम

पुष्यमित्र इस बार विनय तरुण स्मृति समारोह पटना में होना तय हुआ है। जगह फाइनल है। रोटरी भवन। हम विनय के दोस्त देश के अलग-अलग इलाकों से इस मौके पर…
और पढ़ें »
चौपाल

अतिवादों के दौर का जनक है पूजीवादी अर्थतंत्र-ब्रह्मानंद ठाकुर

ब्रह्मानंद ठाकुर विनय तरुण स्मृति व्याख्यान 2018 का विषय है- अतिवादों के दौर में पत्रकारिता और गांधीवाद। मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि साहित्य, कला, संस्कृति, नीति-नैतिकता, चिंतन और…
और पढ़ें »
चौपाल

अतिवादों के दौर में पत्रकारिता और गांधीवाद

मोनिका अग्रवाल जब हम किसी से पूछे कि  वर्तमान में हिंदी की साहित्यिक पत्रकारिता का काल कैसा है ? शायद जो जवाब मिले वो ऐसा हो- पतनशील, विकासहीन, लक्ष्यविहीन, अराजकतापूर्ण…
और पढ़ें »