Tag archives for यात्रा

माटी की खुशबू

महाराणा प्रताप के आखिरी ठीये की मेरी पहली यात्रा

जयंत कुमार सिन्हा हिंदू-मुसलमान के बीच पनप रहे घिन्न भरे माहौल में एक ऐसा मुस्लिम सहकर्मी मिला, जिसने तड़क-भड़क की दुनिया से दूर एक अलग जगह दिखाने में रूचि दिखाई।…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

क्या जंगलों में आदिवासियों का होना अच्छे पर्यावरण का प्रतीक नहीं?

शिरीष खरे शिरीष खरे की बतौर पत्रकार यात्रा की ये पांचवीं किस्त है। मेलघाट का अनदेखा सच पाठकों तक शिरीष की नजरों से पहुंच रहा है। उनकी विचार यात्रा में…
और पढ़ें »