क्या राजीव की आड़ में सरकार की नाकामी छिपाने में सफल होंगे मोदी?

पुष्यमित्र राजीव गांधी कोई राजनीति के सन्त नहीं थे। आजकल जो उन्हें सन्त बनाने पर तुले हैं, वे या तो

और पढ़ें >

‘किसकी है जनवरी, किसका अगस्त है’ ?

ब्रह्मानंद ठाकुर पिछले दिनों देश ने गणतंत्र दिवस का जश्न बड़े धूम-धाम से मनाया । देश की हर गली मोहल्ले

और पढ़ें >

राष्ट्रीय परिदृश्य पर हावी संकीर्ण और जनविरोधी सोच

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश के फेसबुक वॉल से साभार किसी की बीमारी पर कटाक्ष नहीं होना चाहिए। किसी को भी बद्दुआ

और पढ़ें >

आस्था के नाम पर मूर्ख बनाने का घनघोर विश्वास गजब का है

राकेश कायस्थ के फेसबुक वॉल से साभार मेरे गृह राज्य झारखंड में एक मशहूर शिव तीर्थ है। बैजनाथ धाम। जिस

और पढ़ें >

बीजेपी में गजब की पारदर्शिता है!

राकेश कायस्थ बीजेपी के आप कितने बड़े आलोचक क्यों ना हो राजनीतिक जीवन में पारदर्शिता स्थापित करने का क्रेडिट उसे

और पढ़ें >

कर्नाटक में फिलहाल तो मोदी ने बढ़त बना ली है

धीरेंद्र पुंडीर सिद्धारामैया को कांग्रेस ने जीत के लिए हर दांव की छूट दी। अलग झंडा, हिंदी से नफरत और

और पढ़ें >

कर्नाटक में सिद्धारमैया बनाम मोदी

धीरेंद्र पुंडीर इधर माइक पकड़ा उधर भीड़ ने उत्साह के साथ तालियां बजानी शुरू कर दी। दूर तक नजर जा

और पढ़ें >

खामोशियां… मनमोहन से मोदी तलक

रविकिशोर श्रीवास्तव हज़ार जवाबों से अच्छी है मेरी खामोशी…अगस्त 2012 का वो वक्त… जब तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह संसद परिसर

और पढ़ें >