सूखा है तो है, उन्हें तो सिर्फ सत्ता से मतलब है!

पुष्यमित्र / इन दिनों बिहार समेत लगभग पूरा देश भीषण सूखे का सामना कर रहा है, अगर 5-7 फीसदी लोगों

और पढ़ें >

हम पत्रकार तो शास्वत विपक्ष हैं

पुष्यमित्र के फेसबुक से साभार 1961 में जब ब्रिटेन की रानी भारत आई थी और नेहरू उसके स्वागत में बिछे

और पढ़ें >

सबूत मांगने पर हाय तौबा मचाने वालों को रामायण से सीख लेने की जरूरत

पीयूष बबेले के फेसबुक वॉल से साभार सबूत पर चिढ़ने वालों को भारतीय परंपरा का ज्ञान नहीं है और कम

और पढ़ें >

घरेलू गैस का सिलिंडर, सब्सिडी और मन का धोखा

पुष्यमित्र क्या आपको पता है कि आप अपने घरेलू गैस सिलिंडर की कितनी कीमत चुका रहे हैं? जब से खाते

और पढ़ें >

जनता बेहाल, कारोबारी मालामाल, वाह रे अच्छे दिन वाली सरकार !

शुरुआत से ही मोदी सरकार को विपक्षी पार्टियों ने सूट-बूट वाली सरकार का तमगा दिया तो ऐसा लग रहा था

और पढ़ें >

रोपिया तो हो गईल लेकिन अब पानी नइखे

सत्येंद्र कुमार यादव माता-पिता के पास मैं रोजाना फोन करता हूं। लेकिन जिस दिन साप्ताहिक छुट्टी रहती है उस दिन

और पढ़ें >