Tag archives for भारत रंग महोत्सव

आईना

शहीद सैनिकों का ‘दफ़न-विद्रोह’ और मंच पर ‘ज़िंदा’ सवाल

मोहन जोशी बरी द डेड नाटक का एक दृश्य मशहूर लेखक व दार्शनिक ‘ज्यां पॉल सात्रे’ ने कहा था ‘ यदि आप जीत का वृतांत सुन लें , तो आपके लिए हार…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मूक बधिर अभिनेता और मंच का नैसर्गिक आकर्षण

संगम पांडेय अपनी निःशब्द प्रस्तुति ‘लव योर नेचर’ में निर्देशक युमनाम सदानंद सिंह ने मंच पर एक छोटा-मोटा जंगल ही उतार दिया है। किसी पहाड़ी जगह पर इस जंगल में…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बाज़ार के क्रूर दौर में नई उम्मीद है तमाशा-ए-नौटंकी

सुमित सारांश "तमाशा-ए-नौटंकी" कला की एक विधा को बचाने की मौलिक कोशिश है। 19वें भारत रंग महोत्सव में "तमाशा-ए-नौटंकी" का मंचन बहुत हद तक उस कोशिश में कामयाब नज़र आता…
और पढ़ें »
महानगर

तमाशा-ए-नौटंकी फुल इंटरटेन्मेंट की फुल गारंटी

पशुपति शर्मा भारत रंग महोत्सव धीरे-धीरे परवान चढ़ने लगा है। पहले हफ़्ते में कुछ प्रस्तुतियों ने दर्शकों का दिल जीता लेकिन कुछ प्रस्तुतियों ने बेहद निराश भी किया। ऐसे में…
और पढ़ें »