Tag archives for ब्रह्मानंद ठाकुर

चौपाल

चुनावी समर के बीच ‘स्वप्नलोक’ में ‘योगी’ से साक्षात्कार

ब्रह्मानंद ठाकुर कभी-कभी सपने भी अजीब होते हैं। अजीब इसलिए कि ऐसे सपनों के कोई हाथ-पैर नहीं होते और यथार्थ से दूर दूर तक इनका कोई रिश्ता नहीं होता। आजकल…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सामंतवाद के गर्भ से पैदा ‘पूंजीवादी लोकतंत्र’ का जमाना है भाई!

तेजस्वी का पुराना सरकारी बंगला, अब सुशील मोदी बढ़ा रहे हैं शोभा ब्रह्मानंद ठाकुर पिछले दिन अखबार में एक खबर पढ़ने को मिली । खबर थी बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री…
और पढ़ें »
गांव के नायक

पोथी पढ़-पढ़ जग मुआ, गांधी भया न कोय

ब्रह्मानंद ठाकुर गांव-घर में  आज-कल खेती-पथारी, माल-मवेशी, शादी-विवाह की चर्चा न के बराबर होती है। कारण है अभी न खेती-किसानी का मौसम है और न शादी-विवाह का लगन। खेत में…
और पढ़ें »
चौपाल

पुरखों को याद करें, लेकिन बुजुर्गों की इज्जत करना ना भूलें

फोटो- अजय कुमार, कोसी , बिहार ब्रह्मानंद ठाकुर घोंचू भाई  आज साइकिल से बाजार गये हुए थे। लौटने में देर हो रही थी। हम मनोकचोटन भाई के तिनटंगा चउकी पर…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मनरेगा- कमाए लंगोटीवाला और खाए धोतीवाला

ब्रह्मानंद ठाकुर फोटो सौजन्य- अजय कुमार कोसी बिहार घोंचू भाई आय सुबहे से घर से गायब थे। मैंने कई बार उनके ओसारे मे बिछी चउकी पर ताक -झांक किया लेकिन…
और पढ़ें »
अतिथि संपादक

बदलाव के पहले अतिथि संपादक ब्रह्मानंद ठाकुर

ब्रह्मानंद ठाकुर का जन्म बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में जनवरी 1952 में निम्न मध्यम वर्ग परिवार में हुआ । पढ़ने के साथ पत्र-पत्रिकाओं में लिखने का शौक बचपन से रहा है…
और पढ़ें »