Tag archives for बीजेपी

बिहार/झारखंड

बिहार में मतदाताओं की उदासीनता कहीं ‘सियासी खिचड़ी’ तो नहीं पका रही ?

पुष्यमित्र एक मित्र ने फोन करके पूछा, कल पहले चरण का प्रचार खत्म हो जायेगा। अब बताइये क्या माहौल है? जवाब में अनायास मेरे मुंह से निकल गया, प्रचार अभियान…
और पढ़ें »
चौपाल

छत्तीसगढ़: एक हारी हुई बाजी

दिवाकर मुक्तिबोध तीन माह पूर्व विधानसभा चुनाव में बुरी तरह पराजित छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी की सबसे बड़ी चिंता इस बात को लेकर है कि वह संगठन में जान किस…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

मसूरी की नहीं, विधायक को जघन्य अपराध करने वाले की है चिंता !

बाएं- बीजेपी नेता गणेश जोशी और डीपी यादव की तस्वीर। उत्तराखंड के नेता खोखले हैं ये बात एक बार फिर गणेश जोशी ने साबित कर दी. विवादों को साये की…
और पढ़ें »
सुन हो सरकार

रम में राम को डूबोने वाले बीजेपी नेता के बेटे ने मंदिर में बांटी शराब

हरदोई: नाबालिग बच्चों के हाथ में शराब की बोतलें । ये तस्वीरें एक मंदिर के बाहर की हैं । एक बच्चे के हाथ में पूड़ी का पैकेट है। उस पैकेट…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

सियासी ‘महाभारत’ के बाद शालीनता का शांतिपर्व

पीयूष बबेले के फेसबुक वॉल से साभारएक महीने के शोर शराबे और हद दर्जे के आक्रामकप्रचार अभियान के बाद पांच राज्यों की चुनावी महाभारत अपनी परिणिति को पहुंच गई। यहअब…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

ग्लोबल लीडर मोदी के किस्सों की नई किताब तैयार है

पीएम मोदी के गांव वडनगर का शिव मंदिर । सत्येंद्र कुमार यादव "सन् 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान फौज में भर्ती होना चाहते थे, लेकिन उनकी कम उम्र इसमें…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

येदि का घमंड, सिद्धा का समर्पण और पलट गई बाजी

धीरेंद्र पुंडीर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार बौने नया हीरो गढ़ रहे हैं क्योंकि नायक या खलनायक के बिना कोई फ़िल्म नहीं होती। बौनों के नए हीरो डी के शिवकुमार हैं।…
और पढ़ें »
सुन हो सरकार

बीजेपी में गजब की पारदर्शिता है!

राकेश कायस्थ बीजेपी के आप कितने बड़े आलोचक क्यों ना हो राजनीतिक जीवन में पारदर्शिता स्थापित करने का क्रेडिट उसे देना ही पडे़गा। कर्नाटक का ड्रामा जिस दिन से शुरू…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

गुजरात- NCP, BSP ने क्या वाकई कांग्रेस का खेल बिगाड़ा?

शिरीष खरे गुजरात चुनाव के नतीजों के बाद आंकड़ों के आईने से अलग-अलग विश्लेषक अपनी-अपनी तरह से तस्वीरें दिखा रहे हैं। हर बार की तरह इस बार फिर राज्य के…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

पटाखे धीरे चलाओ, स्क्रीन हिली तो सीटें कम हो जाएंगी!

धीरेंद्र पुंडीर ये जीत का जश्न फीका है, ये हार का स्वाद मीठा है। ये गुजरात की उलटबांसी है। सिर्फ जनता चाणक्य है बाकि सब मुहावरे हैं। करोड़ों के कमलम…
और पढ़ें »