Tag archives for बाल मनोविज्ञान

चौपाल

बच्चे फटकार की नहीं प्यार की भाषा समझते हैं

अरुण प्रकाश बच्चे का मन गंगा की तरह पवित्र और निर्मल होता है। उसमें ना कोई छल होता है और ना ही कपट। उसके मन में जो कुछ चलता है…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बच्चों को बना लें जिगरी दोस्त

शंभु झा बच्चों के मन की बात कैसे करें, कार्यक्रम में बच्चे और अभिभावक। रविवार की अलसाई दुपहरी थी। मैं कुर्सी पर बैठे-बैठे ही एक झपकी ले चुका था और…
और पढ़ें »
आईना

बच्चे के रिपोर्ट कार्ड से पहले अपना रिपोर्ट कार्ड बनाएं!

जूली जयश्री बदलाव बाल क्लब की फाइल तस्वीर सावधान ! उपर वाला आपका वीडियो बना रहा है। आज कल सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

बाल मन, बीमार जानवर और ‘डॉक्टर’!

जूली जयश्री कहते हैं कि बच्चों की कल्पना का संसार अपरिमित होता है। हम बड़े चाह कर भी उनकी इस उड़ान में बराबरी नहीं कर सकते। वे अपनी सोच में…
और पढ़ें »