Tag archives for बदलाव बाल क्लब

माटी की खुशबू

वर्ल्ड थियेटर डे- हम सब के दिल में बसा है ‘नटकिया’

पशुपति शर्मा वर्ल्ड थियेटर डे। रंगमंच के उत्सव का एक दिन। वो उत्सवधर्मिता जो रंगकर्म में स्वत: अंतर्निहित है। यकीन न हो तो किसी रंगकर्मी से पूछ कर देख लें।…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बदलाव छात्रवृति योजना के लिए प्रस्ताव

शंभु झा दोस्तो,  समाज में सार्थक और सकारात्मक बदलाव के लिए वैल्यू एजुकेशन एक बुनियादी जरूरत है। लेकिन हमने विकास का जो मॉडल अपनाया है, उसमें समाज के बहुत बड़े…
और पढ़ें »
आईना

बच्चे के रिपोर्ट कार्ड से पहले अपना रिपोर्ट कार्ड बनाएं!

जूली जयश्री बदलाव बाल क्लब की फाइल तस्वीर सावधान ! उपर वाला आपका वीडियो बना रहा है। आज कल सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।…
और पढ़ें »
आईना

बड़ों की कविताएं-छंद, बच्चों के किस्से चंद

बदलाव प्रतिनिधि, ग़ाज़ियाबाद रविवार, 25 जून ,2017 को वैशाली, गाजियाबाद के सेंट्रल पार्क में “पेड़ों की छांव तले रचना पाठ” तैतीसवीं साहित्यिक गोष्ठी संपन्न हुई। उमस और बदली से घिरे…
और पढ़ें »
चौपाल

विनय की याद, बच्चों की किस्सागोई और हमारा संकल्प

ये वक्त अपने साथी विनय तरुण को याद करने का है। साथी को याद करते हुए हमने हमेशा उसके कर्मों की बात की है। शायद यही वजह है कि विनय…
और पढ़ें »
चौपाल

जंक फूड के जाल में फंसा बचपन और ‘दुश्मन मां’!

विकास मिश्रा 8-9 साल की उम्र रही होगी, जब मैंने पहली बार पाव-रोटी खाई थी। चाय में डुबोकर जब मुंह में डाला तो ऐसा लगा जैसे स्वर्गलोक में चले गए…
और पढ़ें »
गांव के रंग

चाँद मामा हंसुआ द

बदलाव प्रतिनिधि जैसे जैसे दिन बीतता जा रहा है..बदलाव बाल क्लब की कार्यशाली परवान चढ़ती जा रही है । मुजफ्फरपुर में बदलाव बाल क्लब की पाठशाला के तीसरे दिन बच्चों…
और पढ़ें »
गांव के रंग

कल संवारना है तो आज सुन लो अच्छे किस्से

बदलाव प्रतिनिधि, मुजफ्फरपुर मुजफ्फरपुर जिले के सुदूर गांव पियर में बदलाव बाल क्लब की कहानी कार्यशाला शुरू हो गई। हिन्दी के वरिष्ठ साहित्यकार सह जाने माने युवा कवि डाक्टर संजय पंकज…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मुजफ़्फ़रपुर के पियर गांव में भी किस्सों की कार्यशाला

सर्बानी शर्मा बदलाव की ओर से मुजफ्फरपुर में इस बड़ी पहल के लिए श्री ब्रह्मानंद ठाकुर बधाई के पात्र हैं। उन्होंने बदलाव का मान बढ़ाया है। 'आओ पढ़ें, सुनें और…
और पढ़ें »
आईना

स्कूल की छुट्टी

बदलाव बाल क्लब की कार्यशाला फिलहाल गाजियाबाद के वैशाली में हर दिन शाम 7 बजे लग रही है। बच्चे हर दिन कुछ ना कुछ नया सीख रहे हैं। पटना में भी…
और पढ़ें »
12