राजनीति के डगर पर हर कदम मुश्किल इम्तिहान होते हैं

राकेश कायस्थ खबर है कि राहुल गांधी इस्तीफा देना चाहते हैं। मुझे समझ में नहीं आया कि किसे देना चाहते

और पढ़ें >

‘आनंद का दिन’ और ‘नैतिक जीत’ का निहितार्थ

शशि शेखर (फेसबुक वॉल से साभार) ‘जो जीता वही सिकंदर’ और ‘हारे को हरिनाम’। ये दो ऐसी कहावते हैं, जिन्हें

और पढ़ें >

‘कमल’ पर आसीन ‘मलिन मणि’ का क्या करोगे ‘साहब’

उर्मिलेश भारतीय जनता पार्टी में एक नहीं, अनेक ‘अय्यर’ हैं, उनसे ज्यादा अमर्यादित और असयंमित शब्द निकालने वाले! उन्हें अपशब्दों

और पढ़ें >

पीएम साहब! जानबूझकर शल्य को सारथी मत बनाइए न

सुदीप्ति महाभारत मेरी रुचि का विषय है इसलिए जब एक भाषण में माननीय प्रधानमंत्री ने ‘शल्य’ का नाम लिया और

और पढ़ें >

गांव से अम्मा डांटेगी LIVE

  ”वक़्त बहुत तेजी से बदल चुका है। पहले हम लोग कभी किसी परिवार में जाते थे और छोटे बच्‍चे

और पढ़ें >