कुछ अलग करने का जज्बा है तो JNU की वजह से है- अमित कुमार

जेएनयू यानी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को देखने के दो नजरिये हैं। एक नजरिया उनका है, जो इस कैंपस में रहे

और पढ़ें >

JNU को समझो और फिर जी चाहे तो लाठी बरसा लेना यारों!

रविकांत जेएनयू एक बार फिर से सुर्खियों में है। जेएनयू में न सिर्फ तीन सौ प्रतिशत फीस वृद्धि की गयी

और पढ़ें >

सरकार कारोबारी बन रही है, JNU की जंग के मायने समझें

पुष्यमित्र अभी जिस ट्रेन से देहरादून से लौट रहा था, वह ट्रेन हावड़ा तक जाती है। जाहिर सी बात है,

और पढ़ें >

शिक्षा पर बाज़ार के कब्जे की स्वायत्‍तता

डॉक्टर गंगा सहाय मीणा देश के तमाम अच्‍छे डॉक्‍टर, इंजीनियर, प्रोफेसर, कुलपति, एकेडमिशियन, आलोचक, प्रशासनिक अधिकारी, वैज्ञानिक इसी देश के सरकारी उच्‍च

और पढ़ें >

पूरे शंख और पुष्प की आभा से कवि केदारनाथ को प्रणाम

यतीन्द्र मिश्र एक शानदार कविता ने जैसे अपना शिखर पा लिया हो। कथ्य की आभा से छिटककर तारे की द्युति सी

और पढ़ें >

दिल्ली के SDM प्रशांत, जो सेवा में ढूंढते हैं सुकून

अरुण प्रकाश आए दिन देश में धरना-प्रदर्शन हो हंगामा होता रहता है, लेकिन क्या हमने कभी समान शिक्षा और बेहतर

और पढ़ें >

पेरियार के आँगन में बहती रही कोसी की धारा

पुष्यमित्र मुझे यह मालूम नहीं था कि पेरियार एक नदी का नाम है जो भारत के दक्षिणवर्ती राज्य केरल में

और पढ़ें >

एक अधिकारी से झांसी को ‘अनुराग’ हो गया

जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय को इन दिनों ‘देशद्रोहियों’ का अड्डा साबित करने की कोशिश चल रही है। लेकिन इसी विश्वविद्यालय से

और पढ़ें >

इस्तीफ़ा कुबूल करें ‘जहांपनाह’

एक इस्तीफ़ा, हमेशा एक व्यक्ति का नहीं होता। वो उन तमाम लोगों की भावनाओं की अभिव्यक्ति होता है, जो अपनी

और पढ़ें >