Tag archives for छत्तीसगढ़

बिहार/झारखंड

विकास के दावों के बीच पानी ढोना ही जहां ज़िन्दगी है !

विकास के बड़े दावों के बीच देश के आदिवासी क्षेत्रों में पानी के रंग कुछ ऐसे है। ये आदिवासी किसान रोजमर्रा की ज़रूरत को कोसों पथरीली सड़क पर नंगे पांव…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

सियासी ‘महाभारत’ के बाद शालीनता का शांतिपर्व

पीयूष बबेले के फेसबुक वॉल से साभारएक महीने के शोर शराबे और हद दर्जे के आक्रामकप्रचार अभियान के बाद पांच राज्यों की चुनावी महाभारत अपनी परिणिति को पहुंच गई। यहअब…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

‘करोड़ों’ की जमीन का मालिक मजदूरी करने को मजबूर

शिरीष खरे अलेक्जेंड्राइट नाम के दुनिया के बेशकीमती पत्थर जिस खेत से निकले उस खेत का मालिक कैसा होना चाहिए । क्या ऐसा नहीं होना चाहिए कि उसके पास आधुनिक…
और पढ़ें »

छत्तीसगढ़ में अन्नदाता के मुआवजे में फिर बंदरबांट

शिरीष खरे अस्सी साल के जगदीश सोनी ने अपने तीन बेटों के साथ 15 एकड़ खेत में धान बोया, मगर सूखे से पूरी फ़सल चौपट हो गई। वे बताते हैं…
और पढ़ें »

पीटते हैं, डराते हैं, तहस-नहस कर जाते हैं… वो कौन हैं?

शिरीष खरे "6 मार्च, रविवार सुबह साढ़े 11 बजे जिस समय हम प्रार्थना कर रहे थे, करीब दो दर्जन लोगों ने चर्च में घुसकर तोड़-फोड़ कर दी। हर रविवार यहां…
और पढ़ें »

छत्तीसगढ़ के ‘होरी’ की व्यथा कथा कौन सुनेगा?

दिवाकर मुक्तिबोध लालसाय पुहूप। आदिवासी किसान। उम्र करीब 33 वर्ष। पिता - शिवप्रसाद पुहूप। स्थायी निवास - प्रेमनगर विकासखंड स्थित ग्राम कोतल (jmसरगुजा संभाग, छत्तीसगढ़)। ऋण - 1 लाख। ऋणदाता…
और पढ़ें »

जी हुजूर! रिश्वत जान ले रही है, आप तो तमाशा देखिए

दिवाकर मुक्तिबोध छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार के सवाल पर राज्य सरकार की 'ज़ीरो टॉलरेंस' की नीति है। मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह एवं सरकार के अन्य नुमाइंदे सरकारी एवं गैर-सरकारी कार्यक्रमों में…
और पढ़ें »

50 साल से खेतों में ही है उसका बसेरा

जमीन की रखवाली करती जेठिया बाई बरुण के सखाजी छत्तीसगढ़ के चिल्पीघाटी की पश्चिमी तलहटी में धबईपानी के पास 80 वर्षीय महिला जेठिया बाई अपने पूर्वजों के खेतों को कब्जे…
और पढ़ें »

रमन राज में नक्सलियों से आखिरी लड़ाई

फोटो- दिवाकर मुक्तिबोध की फेसबुक वॉल से  दिवाकर मुक्तिबोध छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने हाल ही में नई दिल्ली में ये कहा था कि राज्य में नक्सली समस्या…
और पढ़ें »