वीरेन नंदा बात 1963 की है, तब मैं नौ साल का था और एक फ़िल्म मुजफ्फरपुर के चित्रा टॉकीज में  लगी थी, राज कपूर की संगम। हमउम्र दोस्तों को घर…
और पढ़ें »