Tag archives for घोंचू उवाच

गांव के रंग

फाउंटेन पेन का लालच और चवन्नी की चोरी

ब्रह्मानंद ठाकुर तस्वीर- अजय कुमार कोसी बिहार     घोंचू भाई आज खूब प्रसन्न मुद्रा में थे। मनकचोटन भाई के दलान में तिनटंगा चउकी पर ज्योंही घोंचू भाई ने अपना आसन…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

तब की दिवाली, अब का ‘दिवाला’

ब्रह्मानंद ठाकुर आज घोंचू भाई जब मनकचोटन भाई के दालान पर पहुंचे तो मनसुखबा दिवाली मनाने के लिए जरूरी सामान का लिस्ट बना रहा था। घोंचू भाई उसकी बगल में…
और पढ़ें »
गांव के नायक

एसी वाले ‘बाबाओं’ की क्रांति और घोंचू भाई का मंत्र

ब्रह्मानंद ठाकुर फोटो- अजय कुमार, कोशी विप्लव जी इन दिनों गांव आए हुए है। इनका मूल नाम समरेन्द्र कुमार है लेकिन महानगर में जाकर जब लेखकीय पेशा अपना लिए तब…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

दुख, तकलीफ, पीड़ा में जादू-टोना वाला ससुराल मत भागो भईया

ब्रह्मानंद ठाकुर तस्वीर सौजन्य- अजय कुमार कोसी बिहार चुल्हन भाई तीन दिन पर ससुराल से लौटे हैं। वैसे वे यदा -कदा विशेष काज -परोजन पर ही ससुराल जाते हैं। इधर…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

कृष्ण का जन्मोत्सव नहीं,  कर्मोत्सव मनाने का समय है यह

ब्रह्मानंद ठाकुर चुल्हन भाई के यहां हर साल बड़े धूमधाम से  कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। इस दिन उनके दरबाजे के मंदिर को खूब सजाया जाता है। वैसे यहां अगल-बगल…
और पढ़ें »
चौपाल

मानव जाति का पहला वैज्ञानिक आविष्कार क्या था ?

ब्रह्मानंद ठाकुर फोटो सौजन्य- अजय कुमार कोसी बिहार आई का बतकही बिलकुले एक नया लुक में  था। असल में हुआ यह कि साउनीघड़ी पवनिए के दिन 15 अगस्त वाला परब…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मनरेगा- कमाए लंगोटीवाला और खाए धोतीवाला

ब्रह्मानंद ठाकुर फोटो सौजन्य- अजय कुमार कोसी बिहार घोंचू भाई आय सुबहे से घर से गायब थे। मैंने कई बार उनके ओसारे मे बिछी चउकी पर ताक -झांक किया लेकिन…
और पढ़ें »