पशुपति शर्मा बंसी दा के साथ काम करने का अपना अनुभव है। रचना-कर्म के दौरान एक आत्मीय रिश्ता रहता है और यही गुरु-शिष्य परंपरा का अपना अनूठापन है। शिक्षक दिवस…
और पढ़ें »