शब्दों की हिंसा फैलाने वालों से भी ‘संवाद’ करना होगा

प्रवीण कुमार लगातार बातों, गरमा-गरम बहसों के दौर मेंसबसे खतरनाक है, सब कुछ सुनकर भी चुप रह जाना ठोस अनुभवों

और पढ़ें >

गांधी की बुनियादी शिक्षा और बदलाव की मुहिम

बदलाव प्रतिनिधि, मुजफ्फरपुर महात्मा गांधी ने 1910  में दक्षिण अफ्रीका में टाल्सटाय आश्रम में जिस तरह की शिक्षा की शुरुआत

और पढ़ें >

औद्योगीकरण के आगे साम्यवाद का टूटा सपना !

गांधी और व्यावहारिक अराजकवाद भाग-2 औद्योगिक क्रांति के बाद यूरोप में मजदूर वर्ग की स्थिति को सुधारने के  जो प्रारम्भिक

और पढ़ें >

नोएडा के गांव वाजिदपुर में 29 को ‘नई तालीम’ पर होगी बात

बदलाव प्रतिनिधि ‘ढाई आखर फाउंडेशन’, ‘अंडर द ट्री’ और ‘बदलाव’ की पहल पर बच्चे, महिलाएं और गांधी की ‘नई तालीम’

और पढ़ें >

आदमी का डर खत्म हो तो समझो देश आज़ाद है- गांधी

पीयूष बबेले ‘गांधीजी’ शब्द मैंने पहली बार कब सुना, यह बता पाना नामुमकिन है. जैसे कि और भी बहुत सी

और पढ़ें >

अहिंसा धर्म अत्यंत कठिन है- गांधी

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभार आज गांधी जी की पुण्यतिथि है। यह हम सब जानते हैं कि गांधी की

और पढ़ें >

गांधी तो अब मर रहे हैं आहिस्ता-आहिस्ता

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार आज बापू की शहादत का दिन है। किसी सिरफिरे ने उन्हें गोली मार

और पढ़ें >

देश के गांधी अड्डों की सूरत बदलनी चाहिए

संदीप नाईक एक ही है सेवाग्राम देश में, एक है कस्तूरबाग्राम इंदौर में और फिर देशभर में फैले हैं –

और पढ़ें >

सेवाग्राम का सबक- स्वच्छता, प्रार्थना और स्वावलंबन

संदीप नाईक बहुत सारी खराब बातों के बावजूद बहुत सारी अच्छी बातें सेवाग्राम के आश्रम में मौजूद हैं, इनमें से

और पढ़ें >