Tag archives for कांग्रेस

चौपाल

कांग्रेस को एक अनुभवी और जमीनी लीडरशिप की जरूरत

दिवाकर मुक्तिबोध मई में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने की शायद उसकी उतनी चर्चा नहीं हुई जितनी कांग्रेस की अप्रत्याशित घनघोर पराजय और अब उसके…
और पढ़ें »
चौपाल

छत्तीसगढ़: एक हारी हुई बाजी

दिवाकर मुक्तिबोध तीन माह पूर्व विधानसभा चुनाव में बुरी तरह पराजित छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी की सबसे बड़ी चिंता इस बात को लेकर है कि वह संगठन में जान किस…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

सियासी ‘महाभारत’ के बाद शालीनता का शांतिपर्व

पीयूष बबेले के फेसबुक वॉल से साभारएक महीने के शोर शराबे और हद दर्जे के आक्रामकप्रचार अभियान के बाद पांच राज्यों की चुनावी महाभारत अपनी परिणिति को पहुंच गई। यहअब…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

ग्लोबल लीडर मोदी के किस्सों की नई किताब तैयार है

पीएम मोदी के गांव वडनगर का शिव मंदिर । सत्येंद्र कुमार यादव "सन् 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान फौज में भर्ती होना चाहते थे, लेकिन उनकी कम उम्र इसमें…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

येदि का घमंड, सिद्धा का समर्पण और पलट गई बाजी

धीरेंद्र पुंडीर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार बौने नया हीरो गढ़ रहे हैं क्योंकि नायक या खलनायक के बिना कोई फ़िल्म नहीं होती। बौनों के नए हीरो डी के शिवकुमार हैं।…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

गुजरात- NCP, BSP ने क्या वाकई कांग्रेस का खेल बिगाड़ा?

शिरीष खरे गुजरात चुनाव के नतीजों के बाद आंकड़ों के आईने से अलग-अलग विश्लेषक अपनी-अपनी तरह से तस्वीरें दिखा रहे हैं। हर बार की तरह इस बार फिर राज्य के…
और पढ़ें »
चौपाल

‘आनंद का दिन’ और ‘नैतिक जीत’ का निहितार्थ

शशि शेखर (फेसबुक वॉल से साभार) ‘जो जीता वही सिकंदर’ और ‘हारे को हरिनाम’। ये दो ऐसी कहावते हैं, जिन्हें हम चुनाव दर चुनाव पढ़ते-सुनते आए हैं। गुजरात के परिणामों…
और पढ़ें »
चौपाल

कांग्रेस मुक्त भारत का थका नारा और गुजरात के सबक

राकेश कायस्थ जिस दौर में चोर को चाणक्य और तड़ीपार को तारनहार का समानार्थी मान लिया गया है। उसी दौर में गुजरात की तीन राज्य सभा सीटों के लिए वोटिंग…
और पढ़ें »
चौपाल

बटन दबते ही धड़कन तेज़ !

कैराना में वोट डालते मतदाता । रवि किशोर श्रीवास्तव कतार घट चुकी थी, एकआध लोग ही बचे थे। पोलिंग बूथ के अधिकारी और कर्मचारी रवानगी की तैयारी कर रहे थे।…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

यूपी को ‘बेस’ पसंद है !

कुमार सर्वेश यूपी चुनाव में सत्ता के लिए बिसात बिछ चुकी है। हर कोई अपने-अपने मोहरे मैदान में उतार चुका है। अखिलेश और राहुल गांधी की युवा जोड़ी के पहले…
और पढ़ें »
12