Tag archives for कश्मीर

माटी की खुशबू

मुझे कश्मीर में प्लॉट नहीं, कश्मीरी दोस्त चाहिए

फाइल फोटो पुष्य मित्र आजकल कभी कभी मन होता है कि हर मुद्दे पर क्यों बोला जाये। अपनी राय जाहिर करते रहना कोई जरूरी है क्या? और क्या लोग मेरी…
और पढ़ें »
चौपाल

कश्मीर पर सवालों से ‘मुठभेड़’ और एक नजरिया

ब्रह्मानंद ठाकुर 'सिसकियां लेता स्वर्ग ' पुस्तक के कश्मीरी मूल के हिन्दी लेखक डॉक्टर निदा नवाज  बाबू अयोध्या प्रसाद खत्री स्मृति सम्मान ग्रहण करने  25 नवम्बर को मुजफ्फरपुर आए। इस…
और पढ़ें »
सुन हो सरकार

देश अब और शहादत के लिए तैयार नहीं!

धीरेंद्र पुंडीर इतिहास एक जिंदा चीज है जो देश इसका अहसास नहीं करते उन्हें ये मुर्दा कर देता है। निर्णय लेने वालों को वास्तविक सच्चाई की कोई समझ, कोई पकड़…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

कश्मीर- किसके लिए कर्फ़्यू, तलाशियां, कष्ट और बलिदान

धीरेंद्र पुंडीर वो जवान किसके लिए वहां है। वो किस देश के वासी थे जो बहु-बेटियों की इज्जत और अपनी जान बचाकर भागे थे। सभी अपहरणों, हत्याओं, संकटों, विनाश और…
और पढ़ें »
चौपाल

कश्मीर का ‘इस्लाम’ अलहदा है!

  धीरेंद्र पुंडीर बात वहीं से शुरू करता हूं जहां रूक गई थी। बातचीत बड़े बिजनेसमैन से हो रही थी और वो कश्मीर और बाकी देश के बीच की दूरी…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

मसला कश्मीर है… कारोबार नहीं!

धीरेंद्र पुंडीर हाथ पर चांद का फोटो खींच लेने से न चांद इतना छोटा होता कि हथेली पर आ जाए और न ही हथेली इतनी बड़ी हो जाती है कि…
और पढ़ें »