Tag archives for इतिहास

माटी की खुशबू

पहले किसान नेता और क्रांति के अग्रदूत कुंअर सिंह

कुमार नरेंद्र सिंह आज भी भोजपुर के उज्जैनिया राजपूतों के गांव लहठान में एक बहुत बड़ा तालाब है, जिसके बारे में वहां के लोग बताते हैं कि वह पोखरा कुंअर सिंह…
और पढ़ें »
माटी की खुशबू

वैशाली के समकालीन गणराज्यों की गाथा

वीरेन नंदा भारत के ऐतिहासिक युग की शुरुआत वैशाली गणराज्य से होती है। यह दुनिया का पहला गणराज्य था। इस गणराज्य के भग्नावशेष मुजफ्फपुर से करीब 27 किलोमीटर दूर बसाढ़…
और पढ़ें »
चौपाल

कुंअर सिंह- सन् सनतावन के अगिया बैताल

कुमार नरेंद्र सिंह ‘कुंअर सिंह एक ऐसा आदमी है, जिसने हमें 80 साल की अवस्था में एक पूर्ण पराजय का त्रासद घाव दिया, जिसने बेलगाम विद्रोहियों से ऐसी हुक्मबरदारी हासिल…
और पढ़ें »
आईना

पद्मावत का नाम ‘खिलजावत’ क्यों न रखा ?

विकास मिश्र 'पद्मावत' देखकर लौटा हूं वो भी 3डी में। तीन घंटे लंबी इस फिल्म का नाम तो असल में 'खिलजावत' होना चाहिए था, क्योंकि पूरी फिल्म खिलजी के इर्दगिर्द…
और पढ़ें »
आईना

पद्मावती मिथकों-किस्सों में भी सम्मान की हक़दार तो है!

धीरेंद्र पुंडीर "सोना सभी का रक्त बहाता और फिर भी अपने स्थान पर रहता है कोई ऐसा नहीं जो कि सोने से सबके रक्त का बदला ले।" - बरनी रानी…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

सपने में भी अलाउद्दीन और पद्मावती का साथ ‘शैतानी’ चाल

धीरेंद्र पुंडीर शैतान अलाउद्दीन के साथ स्वप्न में भी पद्मावती, शैतान की पूजा है। पद्मावती के साथ खिलवाड़ इतिहास के साथ है या नहीं लेकिन आजादी की लड़ाई से लेकर…
और पढ़ें »