रुपेश कुमार

मां जैसा 
कोई
डांटता नहीं
मां जैसा
कोई 
मनाता भी नहीं !

सबसे छुपा कर
जतन से बचा कर
वो फटोना औ मिठाई
कोई 
खिलाता भी नहीं !

घर है सूना
दर है सूना
तुम नहीं हो तो
कोई 
ज्यादा आता जाता नहीं !

लोग लेते हैं
नाम तुम्हारा अदब से 
जब भी 
यकीन होता है कि
बस तन जाता है
नाम जाता नहीं !


rupesh profile

मधेपुरा के सिंहेश्वर के निवासी रुपेश कुमार की रिपोर्टिंग का गांवों से गहरा ताल्लुक रहा है। माखनलाल चतुर्वेदी से पत्रकारिता की पढ़ाई के बाद शुरुआती दौर में दिल्ली-मेरठ तक की दौड़ को विराम अपने गांव आकर मिला। उनसे आप 9631818888 पर संपर्क कर सकते हैं।

संबंधित समाचार