गोविंद कुमार

कहते हैं बदलते वक्त के साथ आदमी के रहन-सहन, विचार

पूर्णिया के सांसद संतोष कुशवाहा

व्यव्हार,पठन -पाठन तक अनेक बदलाव और विस्तार हुये हैं। इस बदलाव से सियासत भी अछूती नहीं है ! आज जनप्रतिनिधी भी अपने कार्यशैली में बदलाव लाने लगे हैं। ऐसे ही बदवाव के परिणाम स्वरूप पूर्णिया लोक सभा क्षेत्र के सांसद संतोष कुमार ने पूर्णिया के रानीपतरा में अवस्थित गाँव चाँदी कटवा के जीर्णोद्धार की जवाबदेही ले ली ! यह वही रानीपतरा है जहां के निवासी कॉमरेड अजीत सरकार चार बार एमएलए बने थे। कुछ साल पहले उनके शत्रुओं ने उनकी हत्या कर दी थी। लेकिन चाँदी कटवा तब भी अपने विकास की बाट जोह रहा था, एक नये बदलाव का इंतजार कर रहा था !

जब पूर्णिया के सांसद ने इस गाँव को गोद लिया था, तब इस गाँव में बुनियादी रूप से कई कार्य होने थे। उस समय गाँव की हालत काफी खराब थी। ऐसे में इस गांव को पूर्णिया के सांसद द्वारा गोद लिया गया तो लोग काफी प्रसन्न हुए और उन्हें विकास की एक किरण दिखायी पड़ी! पंचायत के छह प्राथमिक विद्यालयों मे से कई स्कूल में बैठने की समुचित व्यवस्था भी नहीं थी।  इस पंचायत में छह प्राथमिक विद्यालय, एक मध्य विद्यालय, एक राजकीय बुनियादी विद्यालय पहले से है। वर्तमान में इन प्राथमिक विद्यालय में से कई प्राथमिक विद्यालय में व्यवस्था में सुधार तो हुआ है। साथ ही स्वास्थ्य केन्द्र की कार्यशैली में भी बदलाव आया है। मनरेगा योजना के तहत गाँव की सड़कों का भी जीर्णोद्धार हुआ है। सडकों की ईंट सोलिंग हुई है। बिजली की व्यवस्था घर-घर तक हो सके, इसके बारे में भी पहल की गई है।

इस पंचायत की आबादी लगभग 11,000 है और 6000 मतदाता यहां रहते हैं। सांसद संतोष कुशवाहा ने आगे बढ़कर जनता को यह आश्वासन दिया कि वह तमाम काम को अंजाम देंगे। गांव की सड़कें बनेंगी, स्वास्थ्य व्यवस्था दुरुस्त होगी, बिजली व्यवस्था दुरुस्त होगी और चांदी पंचायत के लोगों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। लेकिन बीते वर्षों में जनता को कहीं से यह एहसास नहीं हुआ कि उनके सांसद महोदय ने वादों को पूरा किया है। हालांकि इस दौरान कुछ सड़कें ईंट-सोलिंग हुई है और सर्वोदय आश्रम में दो कमरे बनाए गए हैं। प्राकृतिक चिकित्सालय में भी काम हुआ है। लेकिन बावजूद इसके एक संसदीय क्षेत्र के गोद लिए हुए गांव में जो कार्य होने थे वह कार्य नहीं हो पाये, यह कहना है यहां की जनता का !

लोगों की माने तो थोड़ा-बहुत बिजली व्यवस्था में सुधार हुआ है। चांदी पंचायत के निवासी होम्योपैथिक चिकित्सक व समाजसेवी डॉक्टर मनोज कहते हैं कि सर्वोदय आश्रम में दो कमरों का निर्माण सांसद निधि से हुआ है, पंचायत में एक जलमीनार भी बनाई गई है, लेकिन कई मामलों में कार्य प्रगति पर नहीं दिख रहा है। इस गांव का अपना एक समृद्ध इतिहास रहा है। यह ग्राम पंचायत पहले से विकसित पंचायत है। रानीपतरा में रेलवे स्टेशन है, कई विद्यालय हैं, स्वास्थ्य केंद्र है। प्राकृतिक चिकित्सालय है। हमने सांसद महोदय से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उनकी व्यस्तताओं के मद्देनजर उनसे वार्तालाप न हो सका।


गोविंद कुमार। पूर्णिया के निवासी। स्वतंत्र लेखन और पत्रकारिता। साहित्यिक अभिरुचि। रंगकर्म से लगाव। आपसे 97095 13909 पर संपर्क किया जा सकता है।

संबंधित समाचार