बदलाव प्रतिनिधि, पटना

पटना सिटी, बिहार में बदलाव के युवा साथियों ने एक छोटी सी पहल की है। तनय तपांशु और उज्ज्वल शर्मा ने अपने करीबियों से कुछ पैसे जमा किए और कापियां, चॉकलेट्स लेकर पास के एक चर्च में पहुंच गए। सिटी में पादरी की हवेली के नाम से बने चर्च में उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चों को कॉपियां बांटी। छोटे-छोटे बच्चों में पढ़ने की इच्छा देखना और कॉपी पाकर उनके चेहरे की खुशी का अपना ही सुकून था।

तनय और उज्ज्वल ने इसके बाद अनाथालाय के बच्चों के साथ भी कुछ वक्त गुजारा। यहां मानसिक और शारीरिक रूप से दिव्यांग बच्चों को टॉफियां बांटी। इनमें से कई बच्चों की हालत ये है कि वो ठीक से चल-फिर भी नहीं सकते। बदलाव के युवा साथियों ने इनका दर्द महसूस किया। इस दौरान सिस्टर टेरेसा भी साथ रहीं और उन्होंने संस्थान के बारे में छोटी-छोटी चीजें दोनों युवाओं को बताईं।

आखिर में ये दोनों युवा साथी वृद्धाश्रम में पहुंचे। यहां बुजुर्गों के साथ बातें कीं। तनय और उज्ज्वल की माने तो ये पल उनकी ज़िंदगी में काफी मायने रखते हैं। संवेदना के धरातल पर उन्हें झकझोरते हैं और कुछ सोचने-विचारने को मजबूर करते हैं। तनय और उज्ज्वल को उम्मीद है कि इस तरह की छोटी पहलों से बड़ा बदलाव आ सकता है। शुरुआत कहीं से तो होनी ही चाहिए। आपको बता दें उज्ज्वल पटना सिटी चौक के निवासी हैं और वो 11वीं क्लास के छात्र हैं। तनय तपांशु ने इसी साल 12वीं की परीक्षा पास की है। हायर एडुकेशन के लिए वो जल्द ही बेंगलुरू जा रहे हैं। सौम्या शर्मा और वीणा शर्मा ने भी इन दोनों युवा साथियों का हौसला बढ़ाया।

संबंधित समाचार