रामगंगा को बचाने आगे आया महिला मंगल दल

नगर पंचायत ने पुलिस निगरानी में डाला श्याम गाड तोक में कूडा
नगर पंचायत ने पुलिस निगरानी में डाला श्याम गाड तोक में कूडा

गैरसैंण,29 जुलाई, श्यामगाड तोक में बेतरतीब कूडा डालने के विरोध के चलते नगर पंचायत ने 15 दिन बाद नगर क्षेत्र से कूडा उठाकर पुलिस निगरानी में श्यामगाड तोक में डाल दिया। जिसे 15 दिनों बाद नगर साफ दिखा वही सलियाणावासियों की आपत्तियों की अनदेखी के चलते रामगंगा के प्रदूषण का खतरा यथावत है। कूडा निस्तारण को लेकर नगर पंचायत, तहसील प्रशासन और सलियाणा के महिला मंगल दल, वन पंचायत के बीच 6 दौर की वार्ता असफल रहने के बाद नगर पंचायत अध्यक्ष गंगासिंह पंवार व अधिषासी अधिकारी ललित मोहन मिश्र ने पुलिस बल बुलाकर कूडा निस्तारित किया। सलियाणा वार्ड के सभासद दिगम्बरसिंह रावत व सामाजिक कार्यकर्ता नरेन्द्र सिंह बिष्ट ने नगर पंचायत द्वारा भारी पुलिस बल बुलाकर वन क्षेत्र व रामगंगा के साथ सलियाणा को प्रदूषित करने के कार्वाही को जनविरोधी करार दिया है। गणेशसिंह ने नगर पंचायत व प्रशासन की कार्यवाही को अलोकतांत्रिक बताते हुए कहा- लोगों में डर पैदाकर राम गंगा को प्रदूषित करना और महिलाओं व आतंकित करने से विरोध रुकेगा नहीं ।

महिला मंल दल व वन पंचायत ने कूडा डालने पर की है आपत्ति।
महिला मंल दल व वन पंचायत ने कूडा डालने पर की है आपत्ति।

उल्लेखनीय है कि सलियाणा वन पंचायत के श्यामागाड तोक में दो गदेरों के बीच कूडा डालने से वन क्षेत्र के साथ ही रामगंगा के प्रदूषण का खतरा है और सलियाणा वार्ड के महिलायें, युवा व वन पंचायत पिछले 15 दिनों से कूडा डालने का विरोध कर रहे हैं वही वगर पंचायत अध्यक्ष गंगासिंह पंवार का कहना है नगर पंचायत के पास तूडा निस्तारण के लिए अन्यत्र स्थान नहीं उपलब्ध है।
ई ओ ने माना डी पी आर एन जी टी मानकों के अनुरुप नहीं। श्यामगाड में कूडा निस्तारण की डी पी आर एन जी टी मानकों के अनूकूल न होने की बात नगर पंचायत के अधिषासी अधिकारी एल एम मिश्र वे स्वीकार की है। कूडा स्थल पर पत्रकारों द्वारा पूछे गये सवाल के जबाब में उन्होंने कहा- एन जी टी मानक पर पिदेश के मुख्य सचिव सहित किसी को भी जेल हो सकती है। उल्लेखनीय है कि श्यामगाड में जहां कूडा डाला जा रहा है वहां से 50 मीटर से भी कम दूरी पर रामगंगा बहती है।

– पुरुषोत्तम असनोड़ा, वरिष्ठ पत्रकार, गैरसैंण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *