12 बेटियों समेत 25 बच्चों को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार

12 बेटियों समेत 25 बच्चों को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार

पीएम मोदी ने बहादुर बच्चों को सम्मानित किया ।

देश की 12 बहादुर बेटियों समेत 25 बच्चों को मिला राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार । मरणोपरांत सम्मानित होने वाले बच्चों में दो मिजोरम से, 1-1 अरुणाचल और जम्मू से । सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार भारत अवार्ड अरुणाचल प्रदेश की आठ साल की तार पीजू को मरणोपरांत दिया गया है । 19 मई 2016 को तार पीजू ने नदी पार करते हुए अपनी दो सहेलियों की जान बचाई । लेकिन खुद नदी की तेज धारा में बह गई। गीता चोपड़ा अवार्ड पश्चिम बंगाल के दार्जलिंग की रहने वाली तेजस्विता प्रधान और शिवानी गोंद को दिया गया । दोनों ने फेसबुक के जरिए एक अंतर्राष्ट्रीय सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था । संजय चोपड़ा अवार्ड 15 साल के सुमित को मिला । सुमित ने देहरादून के जंगलों में अपने चचेरे भाई को गुलदार के हमले से ना केवल बचाया बल्कि गुलदार की पूंछ पकड़कर उसपर दंराती से वार भी किया । लखनऊ की अंशिका को भी राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया । अंशिका 14 सितम्बर 2016 को साइकिल से अपने स्कूल जा रही थी । घर से थोड़ी दूर पर जाने के बाद एक एसयूवी चालक ने पता पूंछने के बहाने अंशिका को रोका । जब अंशिका पता बताने लगी तो गाड़ी में बैठे शख्स ने अंशिका को गाड़ी में खींचने की कोशिश की । उस समय वीर अंशिका ने अपने दोनों पैर दरवाजे में फंसा लिए । इस दौरान उस पर तेजाब फेंकने की कोशिश हुई । अंशिका की दोस्त के शोर मचाने पर बदमाश डर गए और उस पर चाकू से वार कर दिया । लेकिन अंशिका ने हार नहीं मानी और डट कर मुकाबला किया । आखिर में बदमाशों को भागना पड़ा । वहीं पीतमपुरा गांव के निवासी नमन ने सोनीपत में यमुना में डूबते एक बच्चे को अपनी जान पर खेल कर बचाया ।

मरणोपरांत सम्मानित होने वाले बच्चों में 2 मिजोरम से, 1-1 अरुणाचल और जम्मू से ।

वीरता पुरस्कार पाने वाले कर्नाटक के सिया और हिमाचल के प्रफुल्ल भी हैं । बहादुर भाई-बहन की जोड़ी को भी पीएम मोदी ने वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया । राजधानी दिल्ली के मालवीय नगर में रहने वाले बहादुर भाई-बहन अक्षिता और अक्षित ने घर में घुसे दो चोरों से ना केवल डटकर मुकाबला किया बल्कि उनमें से एक को पकड़ कर पुलिस के हवाले भी कर दिया था । इस बार सम्मानित होने वालों बच्चों में केरल से 4, दिल्ली से 3, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ से 2-2 बच्चे । यूपी, महाराष्ट्र, मणिपुर, असम, हिमाचल, नागालैंड, उत्तराखंड, राजस्थान, उड़ीसा और कर्नाटक से 1-1 बच्चे को पीएम मोदी ने सम्मानित किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *