विजय प्रकाश/

यूपी के जौनपुर जिले का एक ऐसा पुल जो पिछले 9 साल से अधर में लटका हुआ है । पिलर खड़ा है, लेकिन बाकी काम पूरा कब होगा ये कोई नहीं जानता, क्योंकि एक दो नहीं तीन-तीन मुख्यमंत्री बदल गए लेकिन पुल की सूरत नहीं बदली । हम बात कर रहे हैं वीरमपुर-भडे़हरी घाट पर निर्माणाधीन पुल की । जिसकी आधारशिला मायावती शासनकाल में पड़ी लेकिन  काम ना अखिलेश के 5 साल के कार्यकाल में पूरा हुआ और ना ही सबका साथ सबका विकास के नाम पर सत्ता में आई योगी सरकार ने अब तक पूरा कराया । योगी सरकार भी अपना आधा कार्यकाल लगभग पूरा कर चुकी है लेकिन पुल अधूरा का अधूरा ही है । पिछले दिनों जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन के बाद अब जिले के युवा समाजसेवी पुल के निर्माण के लिए आंदोलन करने की तैयारी में हैं,लेकिन उससे पहले एक बार फिर ये लोग हर दरवाजा खटखटा लेना चाहते हैं।

मंत्री गिरीज यादव को ज्ञापन देते युवा समाजसेवी

युवा समाजसेवी विकास तिवारी की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल योगी सरकार में मंत्री गिरीश यादव से मिला और उन्हें पुल के अधुरे कार्य को पूरा कराने से संबंधी एक ज्ञापन भी सौंपा, इन युवाओं ने इस उम्मीद में ये ज्ञापन सौंपा है कि उनकी गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक जरूर पहुंचेगी । ऐसा नहीं है कि ये कोई पहला ज्ञापन है, इससे पहले जिले से समाजसेवी संगठनों ने कई बार जिला स्तर से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक ज्ञापन और चिट्ठियां भेजी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई, लिहाया मौजूदा सरकार को एक बार फिर इस उम्मीद में ज्ञापन दिया गया है कि शायद ये सरकार अधूरे पड़े पुल का काम पूरा  दे  ।

युवाओं की ये लड़ाई अब सिर्फ पुल के निर्माण तक ही सीमित नहीं है बल्कि जान बूझकर पुल के निर्माण में देरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग तक पहुंच गई है, क्योंकि पुल के निर्माण में देरी से उसकी लागत भी बढ़ेगी और इसका बोझ जनता पर ही पड़ेगा लिहाजा ज्ञापन में मुख्यमंत्री से मांग की गई है कि संबंधित अधिकारियों और ठेकेदारों पर भी कार्रवाई की जाए और जिम्मेदार व्यक्ति या संस्था से हर्जाना भी वसूला जाए । विकास तिवारी की अगुवाई में मंत्री गिरीश को ज्ञापन सौंपने वालों में विनय यादव, सुधीर सिंह विपिन, अतुल सिंह, आलोक राय, संजय सोनकर, धनंजय सिंह, अभय सिंह, सोनु रजक समेत तमाम युवा नेता और समाजसेवी मौजूद रहे ।

पिछले हफ्ते जिला मुख्यालय पर युवा समाजसेवियों ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर एक दिन का मौत रखा था और जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा था ।

विजय  प्रकाश/  मूल रूप से जौनपुर जिले के मुफ्तीगंज के निवासी । बीए, बीएड की पढ़ाई के बाद इन दिनों सामाजिक कार्यों में जुटे हैं