टीम बदलाव

ग़ाजियाबाद के हर्ष विहार के भोपुरा में रहने वाली प्रमिला पिछले 4 महीनों से परेशान हैं। उनकी बिटिया का कुछ अता-पता नहीं चल पा रहा है। प्रमिला का कहना है कि वो साहिबाबाद थाने से लेकर गाजियाबाद एसपी दफ्तर तक के कई चक्कर लगा चुकी हैं लेकिन कहीं से कोई अच्छी खबर नहीं मिल रही है। प्रमिला का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाले एक युवक ने ही उनकी बेटी को अगवा किया है। बार-बार शिकायत के बावजूद इन दबंगों के खिलाफ पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

प्रमिला ने फोन पर बताया कि 20 जुलाई को उनकी बेटी गायब हुई और तब से ही उनकी रातों की नींद हराम हो गई है। घर में एक और छोटी बेटी है, अब उसकी सुरक्षा का डर भी सता रहा है। पति अपाहिज हैं और कहीं भाग-दौड़ नहीं कर सकते। घरों में काम कर खर्चा चलाने वाली प्रमिला की कहीं कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। उनकी आंखें अपनी बेटी को देखने को तरस रही हैं। उन्हें अब अपनी बेटी की सलामती का डर सता रहा है। वो चाहती हैं कि पुलिस कम से कम बेटी का पता लगाए ताकि वो चैन ले सकें। उन्हें तो अब अपने घर से बाहर निकलने में भी डर लगने लगा है।