अयोध्या विवाद क्या है । आखिर कब से चला आ रहा है ये विवाद । बाबरी मस्जिद निर्माण से लेकर विवादित ढांचा गिराये जाने तक की तारीखों में दर्ज पूरी कहानी पढ़िए।

  1. 1528 में अयोध्या में मुगल शासक बाबर ने मस्जिद का निर्माण कराया।

  2. 1853 में हिंदुओं ने राम मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाने का आरोप लगाया, विरोध में हिंसा भड़की।

  3. 1859 में ब्रिटिश सरकार ने विवादित जगह को दो हिस्सों में बांट दिया। जहां दोनों समुदायों को प्रार्थना की इजाजत दी।

  4. 16 जनवरी, 1950 में पूरा विवाद पहली बार अदालत पहुंचा। गोपाल सिंह विशारद ने फैजाबाद कोर्ट से रामलला की पूजा-अर्चना की विशेष इजाजत मांगी ।

  5. 5 दिसंबर, 1950 को महंत परमहंस रामचंद्र दास ने बाबरी मस्जिद में राम की प्रतिमा रखने की कोर्ट से इजाजत मांगी ।

  6. 17 दिसम्बर, 1959 को निर्मोही अखाड़ा ने विवादित जमीन पर दखल के लिए केस दायर किया ।

  7. 18 दिसम्बर, 1961 को यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड ने बाबरी ढांचे के मालिकाना हक के लिए मुकदमा किया।

  8. 1984 में विश्व हिंदू परिषद ने बाबरी ढांचे की जगह भव्य राम मंदिर के लिए अभियान चलाया ।

  9. 1 फरवरी, 1986 को फैजाबाद की अदालत ने ढांचे का ताला खोलने और रामलाल की पूजा की मंजूरी दी । विरोध में बाबरी एक्शन कमेटी का गठन हुआ ।

  10. जून 1989 को बीजेपी ने विहिप को समर्थन देकर मंदिर आंदोलन को एक बार फिर शुरू किया ।

  11. 1 जुलाई, 1989 को भगवान रामलला विराजमान नाम से पांचवां मुकदमा दाखिल किया गया ।

  12. 9 नवम्बर, 1989 को राजीव गांधी की सरकार ने मंदिर के शिलान्यास की मंजूरी दी ।

  13. 25 सितम्बर, 1990 को बीजेपी अध्यक्ष लाल कृष्ण आडवाणी की अगुवाई में सोमनाथ से अयोध्या तक रथ यात्रा निकाली गई।

  14. अक्टूबर 1991 में यूपी की कल्याण सिंह सरकार ने बाबरी मस्जिद के आस-पास की 2.77 एकड़ भूमि को सरकारी अधिकार में ले लिया।

  15. 6 दिसम्बर, 1992 में हजारों की संख्या में कार सेवकों ने अयोध्या में विवादित ढांचे को गिरा दिया परिणामस्वरूप सांप्रदायिक हिंसा भड़की ।