अयोध्या केस की एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है। केस चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली नई बेंच के पास है। चलिए सिलसिलेवार तरीके से समझते हैं, इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले से लेकर सुप्रीम कोर्ट में पिछली सुनवाई तक कब-कब क्या हुआ।

  1. फाइल चित्र

    30 सितंबर 2010 को बाबरी केस में इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला आया था।

  2. HC ने 2.77 एकड़ की विवादित जमीन 3 बराबर हिस्सों में बांटने का आदेश दिया।

  3. राम चबूतरा और सीता रसोई वाली जगह निर्मोही अखाड़े के हिस्से आई थी।

  4. रामलला विराजमान पक्ष को रामलला की मूर्ति वाली जगह देने का आदेश था।

  5. जमीन का बचा हुआ एक-तिहाई हिस्सा सुन्नी वक्फ बोर्ड को देने का आदेश था।

  6. 22 दिसंबर 2010 को हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई।

  7. रामलला विराजमान की पैरोकार हिंदू महासभा ने फैसले के खिलाफ अपील की ।

  8. 9 मई 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाई।

  9. 9 मई 2011 को ही SC ने यथास्थिति बनाए रखने का आदेश भी दिया ।

  10. 21 मार्च 2017 को SC ने अदालत से बाहर मध्यस्थता की पेशकश की ।

  11. 11 अगस्त 2017 को एक बार फिर SC में मामले की सुनवाई शुरू हुई।

  12. 9 फ़रवरी 2018 को SC ने जमीन विवाद की तरह मामले की सुनवाई की बात कही ।

  13. 29 अक्टूबर 2018- सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की अगुवाई में तीन सदस्यीय नई बेंच में सुनवाई।