चुनाव में हार मिले या जीत, ‘विजय’ अखिलेश की होगी !

samajwadi-rath-2यूपी में समाजवादी संग्राम  फिलहाल थमा हुआ है । मुलायम सिंह के आदेश का अखिलेश और शिवपाल पालन करने में जुटे हुए हैं । शिवपाल समाजवादी पार्टी को जिताने की रणनीति में जुटे हैं तो अखिलेश विकास रथ लेकर विजय की ओर पहला कदम बढ़ाने को तैयार हैं । ये पहली बार होगा जब यूपी की सरकार शहर-शहर और गांव-गांव तक घूमेगी । मर्सिडीज बेंज की ओर से तैयार अखिलेश के विकास रथ में मिनी सचिवलाय बना हुआ है जहां से अखिलेश सरकार भी चलाएंगे और पार्टी के लिए विजय की तलाश भी करेंगे । अखिलेश यादव का ये पहली रथ यात्रा नहीं है, इससे पहले वो दो बार रथ पर सवार हो चुके थे । 2012 में जब वो रथ पर सवार हुए तो सत्ता तक पहुंचे, लेकिन इसबार क्या हो सत्ता तक पहुंच पाएंगे, ये सवाल बना हुआ है । मौजूदा वक्त में पार्टी में जो घमासान मचा रहा उसे देखकर तो यही लगता है कि उन्हें विरोधियों के साथ अपनों से भी लड़ना होगा ।

samajwadi-rath-3अखिलेश के विकास रथ पर शिवपाल दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहे हैं । सियासी हलकों में इसे अखिलेश-शिवपाल के बीच दूरी का असर माना जा रहा है, लेकिन कुछ रणनीतिकारों का मानना है कि समाजवादी घराने में जो कुछ हुआ वो पूरी तरह नहीं तो कुछ हद तक तयशुदा था । ठीक उसी तरह जैसे लोकसभा चुनाव से ठीक पहले गुजरात के सीएम मोदी को बीजेपी से अलग एक नई सोच और कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा लेकर आया और बीजेपी सत्ता सत पहुंच गई । हालांकि उस दौरान संगठन में मोदी को लेकर काफी मनमुटाव भी रहा जैसे आज अखिलेश को लेकर समाजवादी पार्टी में है। मुलायम परिवार में हुए संग्राम की इतिश्री हुई है या नहीं ये तो वक्त बताएगा लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं कि शिवपाल-अखिलेश की टशल को मुलायम सिंह ने बड़ी ही चालाकी से अखिलेश की इमेज मेकिंग के लिए इस्तेमाल किया । एक तरफ 3 नवंबर यानी कलअखिलेश अपना विकास रथ लेकर निकल रहे हैं तो वहीं 5 नवंबर को लखनऊ में पार्टी अपनी रजत जयंती समारोह करने जा रही है जिसकी तैयारी शिवपाल कर रहे हैं । यानी सरकार की इमेज बिल्डिंग अखिलेश कर रहे हैं और पार्टी की शिवपाल । ऐसे में अगर पार्टी गठबंधन कर चुनाव जीतती है तो सरकार का मुखिया अखिलेश ही होंगे इसमें कोई संदेह नहीं और हार मिलती है तो जिम्मेदार शिवपाल । कुल मिलाकर फायदा अखिलेश का ही है । samajwadi-rath

2 thoughts on “चुनाव में हार मिले या जीत, ‘विजय’ अखिलेश की होगी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *