कुमार विनोद की फेसबुक वाल से साभार

ये संजीव चौहान हैं। कहानी के साथ चौथे साल और 180 एपिसोड के साथी। अपने हिस्से का काम कम नहीं इनके पा। ओहदे से दिल्ली आजतक चैनल के ‘आउटपुट हेड’ हैं। खबरों के बीच व्यस्तता हम ही नहीं, आप भी समझ सकते हैं। दिन चढ़ने से लेकर रात ढलने तक मारामारी, लेकिन बात जब मेरे शो ‘कहानी’ के वाइस ओवर की हो, तो वक्त हमेशा वक्त पर निकल आता है। इतने अरसे में मेरे शब्दों के साथ उनकी आवाज की जुगलबंदी ऐसी जमी, कि मौका पड़े तो घर से या कभी कभार टूर पर से भी वाइस ओवर रिकार्ड कर भेज देते हैं और अक्सर जो पढ़ते हैं उस पर फीड बैक भी देते रहते हैं। उनकी आवाज में अपने शब्दों की तारीफ सुनकर अच्छा लगता है मगर आज बारी है मेरी।

मेरे शहर आरा में रहने वाले एक दोस्त हैं मिश्रा जी। इनका बाकी परिचय तो खैर इस पोस्ट के दायरे से अलग है। उसका जिक्र फिर कभी। मगर उनकी बात एक मुझे दिलचस्प लगी। कहने लगे- विनोद जी आपका शो ‘कहानी’ देखते हुए अलग अनुभव होता है। दिन भर खबरों की मारामारी के बीच लगता है कि ‘आजतक’ नहीं, डिस्कवरी या नेशनल ज्योगरॉफिक चैनल देख रहे हैं। मैं थोड़ा हैरान हुआ सुनकर, मगर इससे पहले कि मैं कोई मतलब निकालता मिश्रा जी ने पूछा- अच्छा ये बताइए, कहानी में एक ही आवाज शुरु से ही है- वो किसकी है। मैंने कहा- मेरे दफ्तर में ही संजीव चौहान जी हैं। आपने देखा होगा ‘दिल्ली आजतक’ और मेरे चैनल पर कई शोज की एंकरिंग करते हुए। मिश्रा जी बोले, नाम से तो नहीं पहचान पा रहा, लेकिन खैर, जो भी हों, वाइस ओवर मुझे बहुत प्यारा लगता है। आप लिखते भी लय में है और वो पढ़ते भी हैं उतने ही प्यार से। एक घंटे का वक्त कैसे कट जाता है, पता ही नहीं चलता। डिस्कवरी और नेशनल ज्योगरॉफिक चैनल की तरह एक घंटे की कहानी देखते हुए दिल खुश हो जाता है।

ये सुनकर जाहिर है मेरा मन भी खुश हुआ। भला किस प्रोड्यूसर का नहीं होगा। मगर इस खुशी के साथ एक शुकराना संजीव जी के लिए उभरा। वाकई, आजतक पर ‘कहानी’ का साप्ताहिक सिलसिला अगर 4 साल से चल रहा है, शो की अपनी अलग पहचान है, टीआरपी चार्ट के मुताबिक दर्शकों का एक वर्ग भी है। इसे बनाने में इनकी मखमली आवाज का बड़ा योगदान है। आज जब दफ्तर आ रहे थे, तो जनाब शो की आखिरी स्क्रिप्ट का वीओ करते मिल गए। मैंने कैमरे में तस्वीर उतारी। वो जो एक फोटो में कन्या दिख रही है वो अभिलाषा रघुवंशी है शो की पैकेजिंग प्रोड्यूसर हैं। ये भी शो के साथ पिछले 4 साल से जुड़ी है। ये दोनों लोग वो हैं, जो मेरे लिखने के बाद आगे की प्रक्रिया पूरी करते हैं और जैसा कि मिश्रा जी ने कहा- शानदार प्रोग्राम बनाते हैं।  मेरी तरफ से आप लोगों का शुक्रिया- आप हैं तो कहानी है- दर्शकों के लिए एक दिलचस्प कार्यक्रम। बने रहिए हमारे साथ. देखते रहिए आजतक।


कुमार विनोद/ बिहार के आरा जिले के मूल निवासी। डेढ़ दशक से ज्यादा वक्त से मीडिया में सक्रिय । न्यूज 24, इंडिया टीवी समेत देश के कई मीडिया संस्थानों में काम का अनुभव । संप्रति आज तक चैनल में बतौर एसोसिएट एग्जिक्यूटिव प्रोड्यूसर कार्यरत ।