गाजियाबाद के इंद्रप्रस्थ इंजीनियरिंग कॉलेज में आज दिनांक 17 जून दिन रविवार की शाम 7 बजे एक दिन का मेहमान की प्रस्तुति की जा रही है। संस्कृति मंत्रालय, केंद्र सरकार के सहयोग से दस्तक संस्था ने निर्मल वर्मा की कहानी पर आधारित ये प्रस्तुति तैयार की है। कहानी मध्यवर्गीय परिवार में पति-पत्नी के बीच के तनाव की सशक्त अभिव्यक्ति है। एक दिन का मेहमान एक दिन के अंतराल में सिमटे कशमकश की कहानी है। नाटक का निर्देशन सदानंद पाटिल ने किया है। राष्ट्रीय नाट्य  के पासआउट सदानंद पाटिल किस्से आफंती के, दर्शक, अंधेर नगरी चौपट राजा, शर्त, सन्नाटा जैसे नाटकों का सफल निर्देशन कर चुके हैं। रंगविदूषक भोपाल में श्री बंती कौल जी के सानिध्य में विदूषकीय शैली पर काम करने वाले सदानंद पाटिल देश ही नहीं विदेशों में भी कई बड़े नाट्य समारोहों में हिस्सा ले चुके हैं।

कहानी का नाट्य रूपांतरण मीडियाकर्मी पशुपति शर्मा ने किया है। पशुपति शर्मा नाटक में पति की भूमिका में हैं।
पत्नी की भूमिका माधवी शर्मा निभा रहीं हैं, जबकि बड़ी बेटी का किरदार गौरिका शर्मा और छोटी बेटी की भूमिका वेदाक्षी निभा रही हैं । एक दिन के मेहमान के सूत्रधार कुंदन शशिराज हैं। नाटक में प्रवेश नि:शुल्क है और पहले आओ पहले पाओ के आधार पर एंट्री दी जाएगी। दर्शकों से 6.45 तक अपनी सीट ग्रहण करने की अपील है।

दस्तक एक सांस्कृतिक समूह है जिसका गठन 1998 में भोपाल के कुछ युवा साथियों ने किया। बाद के दिनों में ये समूह दिल्ली, गाजियाबाद समेत कई शहरों में सक्रिय हुआ। पिछले 2 दशकों से सक्रिय इस सांस्कृतिक समूह ने कई अहम प्रस्तुतियां की हैं। इस नाट्य समूह को बंसी कौल, राजकमल नायक, सच्चिदानंद जोशी जैसे वरिष्ठ नाट्यकर्मियों का सान्निध्य प्राप्त रहा है। कलाकारों का ये समूह रंगमंच को स्मृद्ध करने के लिए सतत कार्यरत है।


दस्तक का मौजूदा संपर्क- मोहन जोशी, 9910160703, वर्तमान पता- 303, रिजेन्ट ब्लॉक, सुपर टेक एस्टेट, वैशाली सेक्टर-9, ग़ाजियाबाद, उत्तर प्रदेश 201010 ई मेल- mohanjoshi1@gmail.com

 

संबंधित समाचार