सोमू आनंद

साथियों मुजफ्फरपुर में सभी टीम ने शानदार काम किया। आपसी समन्वय से हमलोग अलग-अलग क्षेत्र में पहुंचे। लोगों को जागरूक किया और उन्हें जरूरी चीजें मुहैया कराई। सभी को खूब सराहा भी गया।अब हमलोग इसी अभियान की दूसरी कड़ी शुरू करने वाले हैं। जिसमें हम उन सभी 525 बच्चे जो चमकी बुखार से पीड़ित हुए, उनके परिवार तक पहुंचेंगे और उनसे बातचीत करेंगे।  यह करना इसलिए जरूरी है क्योंकि इस बीमारी से उबरने वाले बच्चे भी पूरी तरह ठीक नहीं रहते। वे किसी न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर का शिकार हो जाते हैं। तो उनके बारे में पता करना और उन्हें जरूरी डॉक्टरी सलाह दिलाना जरूरी है।

जो बच्चे इस बीमारी से मर गए, उनके परिवार को मुआवजा मिला या नहीं यह भी देखना आवश्यक है। इसलिए हम सभी परिवार तक पहुंचना चाहते हैं।उन सभी परिवारों से मिलकर हम एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करेंगे जिसे हम सरकार और कोर्ट को सौपेंगे। ताकि आगे से यह घटना इतनी बड़ी त्रासदी ना बने।इस पूरे अभियान के लिए हमें और साथियों के सहयोग की आवश्यकता है। जो इस टीम का हिस्सा बनेंगे, उन्हें 10 से 15 दिन का समय (लगातार नहीं) देना होगा।

जो भी इसमें समय दे सकते हैं। कृपया बताएं। 
मैं आपको विस्तृत जानकारी दूंगा। 
धन्यवाद।