Archives for यूपी/उत्तराखंड

मेरा गांव, मेरा देश

रुला दिया यार तूने चंद्रशेखर

निशांत नंदन के फेसबुक वॉल से साभार फाइल फोटो- चंद्रशेखर हैलो... क्या हाल है ठीक ही है सर चल रहा है सब...क्या हुआ बात हुई कुछ आगे...नहीं सर अभी तो…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

मीडिया से ज्यादा गांव में ‘फील गुड’-सुधीर सुंदरियाल

एक अच्छी नौकरी और अच्छा घर हर किसी का सपना होता है, इसके लिए अपना घर-बार छोड़ गांव से बड़ी संख्या में शहर की ओर पलायन भी होता है ।…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

जौनपुर के नौपेड़वा में कोरोना के खिलाफ प्रदीप का जागरुकता अभियान

बदलाव प्रतिनिधि, जौनपुर पूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है । हिदुस्तान में भी कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे सरकार की चिंता भी बढ़ रही…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

भूखों के साथ सिस्टम को भी चाहिए तैयारी का दाना-पानी

अरुण प्रकाश कोरोना संकट को लेकर लॉकडाउन के चौथे दिन दिल्ली से जो तस्वीरें सामने आईं वो बेहद खौफनाक और दिल का झकझोर देने वाली थीं । हजारों की संख्या…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

लॉकडाउन आपके लिए है… इसका पालन करेंगे तो जिंदगी चलती रहेगी…

बदलाव के लिए अरुण प्रकाश की रिपोर्ट पूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है। अलग-अलग देश अपन-अपने तरीके से इससे निपटने की हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं ।…
और पढ़ें »
गांव के नायक

नोएडा एक्सटेंशन के पतवाड़ी धाम में ‘मां की रसोई’ जल्द- टीकम सिंह

नवदुर्गा मंदिर, पतवाड़ी नोएडा एक्सटेंशन यानी एक ऐसा शहर जहां आपको सब कुछ नया ही नजर आएगा। धूल और धुंध से घिरी ऊंची-ऊंची इमारतें दिखाई देंगी। कुछ इमारतें अभी बन…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

‘अर्जुन’ की याद दिलाता है तीरंदाज आर्यमन

बदलाव प्रतिनिधि आर्यमन- चिड़ियां की आंख पर निशाना आर्यमन वर्मा। 13 साल के इस नए तीरंदाज का नाम भले मम्मी-पापा ने आर्यमन रखा हो लेकिन इसकी पहचान ' नन्हे अर्जुन'…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

जीवन संवाद- देश को ‘हज़ार-हज़ार दयाशंकर’ चाहिए

पशुपति शर्मा के फेसबुक वॉल से साभार जीवन संवाद। दयाशंकर मिश्र की पुस्तक। 5 जनवरी, 2020 की शाम इस पुस्तक के विमोचन समारोह में शरीक होने के लिए घर से…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

शिक्षा का बाजारीकरण एक डरपोक, अवसरवादी और भ्रष्ट समाज पैदा करता है!

पुष्य मित्र JNU छात्रों के आन्दोलन के बीच कुछ लोग IIT-IIM का जिक्र लेकर आ गये हैं कि वहां की फीस तो JNU के मुकाबले कई सौ गुना अधिक है,…
और पढ़ें »
यूपी/उत्तराखंड

गरीब उद्यमियों के सपनों के साथ ‘न्याय’ कीजिए

निखिल कुमार दुबे के फेसबुक वॉल से साभार अर्थशास्त्र मेरा विषय नहीं है।नोबल प्राप्त एक्सपर्ट पर कॉमेंट करूँ इतना ज्ञान भी नहीं है,पर एक सामाजिक अनुभव है। अपने छोटे से…
और पढ़ें »