Archives for बिहार/झारखंड - Page 3

बिहार/झारखंड

हाईब्रिड बीज के मायाजाल से कैसे निकले किसान?

ब्रह्मानंद ठाकुर ये कैसी विडंबना है कि देश का किसान जो हर हिंदुस्तानी का पेट भरता है आज वही मर रहा है। सरकार की नीतियों के बोझ तले दबकर किसान…
और पढ़ें »
गांव के रंग

मांगू मांगू मांगू दुलहा…हाथी घोड़ा गइया हे !

अभी शादी-विवाह का मौसम चल रहा है। लिहाजा इस अवसर पर नाना प्रकार के गीतों के स्वर फिजां में तैर रहे हैं। देर रात से सुबह तक ये गीत ध्वनि…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मीडिया का राष्ट्रवाद ‘पनछुछुर’ है- विनीत कुमार

एम अखलाक कारोबारी मीडिया का राष्ट्रवाद पनछुछुर है। इसका राष्ट्रवाद आर्थिक गलियारों से होकर गुजरता है। इस राष्ट्रवाद में मुगालते और गलतफहमियां हैं। इस पनछुछुर राष्ट्रवाद को फिर से परिभाषित…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

मलेशिया में गुम हुआ मुज़फ़्फ़रपुर का लाल

ब्रह्मानंद ठाकुर आखिर कहां है मेरा लाल ? जिंदा भी है या दरिंदों ने उसकी हत्या कर समुद्र में फेंक दिया ? कोई मुझे मेरे बेटे का पता लगा दे।…
और पढ़ें »
गांव के रंग

चाँद मामा हंसुआ द

बदलाव प्रतिनिधि जैसे जैसे दिन बीतता जा रहा है..बदलाव बाल क्लब की कार्यशाली परवान चढ़ती जा रही है । मुजफ्फरपुर में बदलाव बाल क्लब की पाठशाला के तीसरे दिन बच्चों…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

आंसुओं से नज़रें चुराकर हंसने का हुनर देखिए ।

छात्रों की सफलता पर जश्न । फोटो- आनंद कुमार JEE ADVANCED 2017 की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए चर्चित संस्थान सुपर-30 के सभी 30 छात्रों ने इस साल…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

कितने संपादक ‘गणेश विधि’ से LIVE टेस्ट को तैयार हैं?

मनीष कपूर के फेसबुक वॉल से ज्यादातर हिंदी न्यूज चैनलों के संपादक बिहार के हैं। जाहिर है उनमें से ज्यादातर ने बिहार बोर्ड की परीक्षा पास की होगी। उन्हें वो…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

पहले किसी दुल्हन के साथ ऐसा नहीं हुआ होगा ?

बदलाव प्रतिनिधि, मुजफ्फरपुर दुल्हन बनी जूली के सारे अरमान धरे रह गये। आरोप है कि शादी के दो घंटे बाद पुलिस ने कोहवर से जूली को घसीट कर बाहर निकाला। उसे…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

पूर्णिया के ‘ड्रीम कैचर’ का सपना सच होने को है!

एपी यादव ड्रीम कैचर के निर्देशक संतोष शिवम, अभिनेता धर्मेंद्र के साथ आम इंसान हो या फिर खास, गरीब या फिर अमीर हर किसी में एक समानता जरूर होती है…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

महानंदा के ठांव, दो चदरा की नाव

भूषण चौंकिए मत। यह जो चित्र आपके सामने है यह एक नाव का है। एक बड़ी नाव जितना काम कर सकती है उतनी ऊर्जा और उतने समय में उस से…
और पढ़ें »