Archives for बिहार/झारखंड - Page 2

बिहार/झारखंड

मौजूदा शिक्षा नीति पर कुढ़नी से उठे सवाल

बदलाव प्रतिनिधि आल इण्डिया डेमोक्रेटिक स्टूडेन्ट्स आर्गेनाइजेशन ने मुजफ्फरपुर के एम आर एस हाईस्कूल ,मनियारी में 28 जुलाई को छात्र छात्राओं का एक सम्मेलन आयोजित किया। यह सम्मेलन एआईडीएसओ के…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

दरभंगा के आम और जोधा-अकबर का ‘प्रेम’

पुष्यमित्र आम का सीजन उफान पर है। इस साल भरपूर आम बाजार में उपलब्ध है, कीमत भी कम है, लिहाजा पूरा हिंदुस्तान खुलकर आम के रस में सराबोर हो रहा…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

मुजफ्फरपुर में याद किए गए राहुल सांकृत्यायन

ब्रह्मानंद ठाकुर महापंडित राहुल सांकृत्यायन वैज्ञानिक समाजवादी विचारधारा के अनथक योद्धा साहित्यकार थे। उन्होंने अपने अगाध पांडित्य  को वर्ग शत्रु के खिलाफ आम जनता के जनवादि अधिकारों के लिए हथियार…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

वीरेन नंदा की किस्सागोई पार्ट 4-5

सांकेतिक चित्र वीरेन नन्दा किस्सागोई के के तीसरे अंक में आपने पढ़ा किस तरह कवि- कहानीकार दोस्तों ने शहर के एक मशहूर पूड़ी-जलेबी की दुकान में छक कर पूड़ी-जलेबी खाने…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

छपरा की बेटी का दर्द … ओ री चिड़ैया

अनीश कुमार सिंह मैं बिहार के छपरा की बेटी हूं। मेरा दम घुट रहा है। एक-एक सांस मुझ पर भारी पड़ रही है। उस मनहूस दिन को याद करके मैं…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

घोंचू उवाच- जैसी बहे बयार ,पीठ तब तैसी दीजिए

ब्रह्मानंद ठाकुर घोंचू भाई खेती - पथारी का काम निबटा कर शाम होते ही मनकचोटन भाई के दरबाजे पर जुम गये। मनकचोटन भाई का दरबाजा  टोले के बुजुर्गों का एक…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

हिन्दू कहें मोहि राम पियारा, तुर्क कहें रहमाना… रे कबीरा, न बदला जमाना

श्वेता जया पांडे अगर आप कबीर को एक महान शख्सियत बताते हैं और उनकी महान ज़िंदगी से कुछ सीखने की सीख देते हैं तो सबसे पहले आपको ये सोचना होगा…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

‘द्रव्य’ दुकान और मोहल्ले की अटूट दोस्ती

सांकेतिक तस्वीर- साभार अमित वीरेन नंदा किस्सागोई के पहले अंक में आपने पढ़ा पति-पत्नी के बीच की मीठी नोकझोंक जिसमें प्यार भी रहता है और टकराव भी । कैसे जब…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

हमारे दिलों का कोना-कोना नाप चुके हैं सागर बाबा

सुबोध कांत सिंह बात तक की है जब मैं चौथी कक्षा में पढ़ता था। स्कूल में गर्मी की छुट्टी पड़ी तो मेरे चाचा मुझे अपने गांव लेकर आए। इससे पहले…
और पढ़ें »
बिहार/झारखंड

‘अवसरवाद’ के सियासी समर में ‘सुशासनबाबू’ का चक्रव्यूह

पुष्य मित्र हाल में हुए उपचुनाव में बीजेपी की हार और विपक्षी दलों के उम्मीदवारों की जीत से बिहार अछूता नहीं रहा और ना ही नीतिश इस हार जीत के…
और पढ़ें »