Archives for परब-त्योहार - Page 2

परब-त्योहार

थियेटर म्यूज़िक- अंजना पुरी की साधना और प्रयोग के सुर

संगीत नाटक अकादमी के अवॉर्ड्स की घोषणा हुई। अलग-अलग कैटगरी में कई नाम सामने आए। इनमें एक नाम अंजना पुरी का भी है। वो अंजना पुरी जो पिछले ढाई दशकों…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मां की ‘ख़ामोशी’ की भाषा समझते हैं हम

सर्बानी शर्मा माया शर्मा, सर्बानी शर्मा की मां मेरी मां। मां नहीं भाभी। वो हमारी मां नहीं बन पाईं कभी। हम उसे बचपन से ही भाभी कहकर पुकारते रहे हैं।…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मदर्स डे- महिलाओं की रचनात्मकता का उत्सव

जूली जयश्री बदलाव और वुमनिया  के संयुक्त प्रयास से गाजियाबाद के वैशाली में महिलाओं के लिए एक वर्कशॉप का आयोजन किया गया। ये आयोजन विशेष तौर पर होम मेकर्स के…
और पढ़ें »
गांव के नायक

इंटरनेट की दुनिया- ‘कुंदन’ घिसता गया, चमक बढ़ती गई

कुंदन शशिराज एक ऐसे युवा के तौर पर अपने साथियों के बीच जाने जाते हैं, जो अपने जुनून के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

एक ऑटो ड्राइवर की ईमानदारी को सलाम

पशुपति शर्मा अगर आपका बैग किसी ऑटो में छूट जाए और आपकी जेब में आगे के किराये के लिए पैसा भी ना हो तो सबसे पहले आपकी जेहन में क्या…
और पढ़ें »
अतिथि संपादक

आओ गांधी-गांधी खेलें !

ब्रह्मानंद ठाकुर देश महात्मा गांधी के चम्पारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष मना रहा है तो जाहिर है कि मुजफ्फरपुर इस आयोजन में बढ़चढ़ का हिस्सा लेगा । मुजफ्फरपुर में 10 अप्रैल…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

कल का लम्पट सामंत कहीं आज का सम्मानित वीसी तो नहीं?

संदीप सिंह फ़िल्म का पहला दृश्य उत्तर भारत के सामंती गाँवों के धूल-धुसरित रास्तों पर स्मृति की दूधिया स्याही से लिखी उन अनगिनत सच्ची घटनाओं पर आधारित है जहाँ कभी…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

अंग-अंग में बोल गया फागुन

संजय पंकज बोल गया फागुन अंग अंग में जाने कैसा रस घोल गया फागुन ! रंग नयन में गंध सांस में प्राण बंध अनुबंध हास में तैर गगन में उतर…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बेटियां अक्खज होती हैं, उनको भी कोई सीसा-बक्सा में भरती कराता है?

प्रभात खबर के पत्रकार पुष्यमित्र को नॉदर्न और इस्टर्न रीजन का ‘लाडली मीडिया अवार्ड’ मिला है। उन्हें जिस स्टोरी पर यह अवार्ड मिला है, वह वर्ष 2016 में प्रकाशित हुई…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बदलाव के पहले मिलन में जम गया होली का रंग

सर्बानी शर्मा दिल्ली से सटे नोएडा में बदलाव, ढाई आखर फाउंडेशन और दस्तक की ओर से आयोजित पहले होली मिलन कार्यक्रम में 50 से ज्यादा परिवार शामिल हुए। रविवार के…
और पढ़ें »