Archives for परब-त्योहार - Page 2

परब-त्योहार

सियासी ‘महाभारत’ के बाद शालीनता का शांतिपर्व

पीयूष बबेले के फेसबुक वॉल से साभारएक महीने के शोर शराबे और हद दर्जे के आक्रामकप्रचार अभियान के बाद पांच राज्यों की चुनावी महाभारत अपनी परिणिति को पहुंच गई। यहअब…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

बाजारवाद की माया से दूर छठ पर्व की छटा

पुष्य मित्र वैसे तो छठ मुख्यतः बिहार-झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों द्वारा मनाया जाने वाला पर्व है, फिर भी यह कोई छोटी आबादी नहीं है, तकरीबन 15 करोड़…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

तब की दिवाली, अब का ‘दिवाला’

ब्रह्मानंद ठाकुर आज घोंचू भाई जब मनकचोटन भाई के दालान पर पहुंचे तो मनसुखबा दिवाली मनाने के लिए जरूरी सामान का लिस्ट बना रहा था। घोंचू भाई उसकी बगल में…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

हर दशहरे पर निगाहें तलाशती हैं नीलकंठ

धीरेंद्र पुंडीर दशहरा और नीलकंठ। "नीलकंठ तुम नीले रहियो हमारी बात राम से कहियो"। पता नहीं कि अब हमको अपनी बात भगवान राम तक पहुंचानी है या नहीं। दशहरे पर सुबह-सुबह…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

आस्था का बाज़ारीकरण और आडंबरों का बाज़ार

ब्रह्मानंद ठाकुर पिछले 9 दिनों से हर तरफ दुर्गा पूजा की धूम रही । क्या शहर क्या गांव हर तरफ आलीशान पंडाल हर किसी का मन मोहने के लिए काफी…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

हमारे पोते-पोतियों को हमसे दूर मत करो भाई- दिल की आवाज़

ब्रह्मानंद ठाकुर बदलाव पाठशाला के प्रथम सालगिरह और विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस के अवसर पर 2 अक्टूबर को मुजफ्फरपुर के पियर गांव में एक संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। संवाद…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

मौसम का बदलता मिजाज और सियासत का चढ़ता पारा

संजय पकंज मौसम बदल रहा है। वातावरण में सर्दी उतरने के लिए उसाँसें भर रही है । बहुत धीमी चाल से आता है नया मौसम। सर्दी बड़ी नजाकत से दबे…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

कृष्ण की पूजा कीजिए… लेकिन कृष्ण के बताए रास्ते पर एक कदम तो चलिए

योग गुरु धीरज वशिष्ठ पूरे मानवता के इतिहास में कृष्ण अकेले ऐसे व्यक्तित्व हैं जो सभी आयामों में खिले हुएं हैं। कहीं वो बांसुरी बजाने वाले कृष्ण हैं तो कहीं…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

कृष्ण का जन्मोत्सव नहीं,  कर्मोत्सव मनाने का समय है यह

ब्रह्मानंद ठाकुर चुल्हन भाई के यहां हर साल बड़े धूमधाम से  कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। इस दिन उनके दरबाजे के मंदिर को खूब सजाया जाता है। वैसे यहां अगल-बगल…
और पढ़ें »
परब-त्योहार

आपके हिस्से की हंसी, ख़ुशी, सुगंध, मिठास मुबारक हो

अपने जन्मदिन पर मृदुला शुक्ला की फेसबुक पोस्ट मेरा पैदा होना पत्थर पर जमी दूब नहीं था न ही सिल पाथर धोकर पाया होगा मेरी माँ ने मुझे। मेरा पैदा…
और पढ़ें »