Archives for चौपाल

चौपाल

कुंभ पर एक ‘साहित्यकार’ की जीवंत फोटो प्रदर्शनी

अजामिल जी के फेसबुक वॉल से साभार इलाहाबाद के बहुचर्चित छायाकार एस के यादव ने विश्व के सबसे बड़े अध्यात्मिक कुंभ मेले का अभिनंदन कुंभ की स्मृतियों को सहेजे लगभग…
और पढ़ें »
चौपाल

बच्‍चों की मार्कशीट को जिंदगी पर हावी न होने दें

दयाशंकर मिश्र बच्‍चों को संपत्ति की तरह न मानने, ‘बच्‍चे हमसे हैं, हमारे लिए नहीं’ भावना वाली परवरिश के सिद्धांत, विनम्र अनुरोध को देशभर के पाठकों से बेहद सृजनात्‍मक, सुखद…
और पढ़ें »
चौपाल

आर्थिक असमानता दूर करने का ‘सियासी’ छलावा !

शिरीष खरे स्वतंत्रता के बाद भारत जैसे विशाल और विविधता सम्पन्न देश में असंतुलन तथा अंतर्विरोधी समाधान के लिए योजना को एक सकारात्मक साधन माना गया। ग्रामीण भारत में योजना…
और पढ़ें »
चौपाल

सौंदर्यीकरण के नाम पर ‘अतिक्रमण’

पुष्यमित्र के फेसबुक वॉल से साभार/यह दरभंगा के एक ऐतिहासिक तालाब का चित्र है। सम्भवतः हराही का। वहां सौंदर्यीकरण हो रहा है। अब यह सौंदर्यीकरण है या अतिक्रमण यह फोटो…
और पढ़ें »
चौपाल

कश्मीर पर सवालों से ‘मुठभेड़’ और एक नजरिया

ब्रह्मानंद ठाकुर 'सिसकियां लेता स्वर्ग ' पुस्तक के कश्मीरी मूल के हिन्दी लेखक डॉक्टर निदा नवाज  बाबू अयोध्या प्रसाद खत्री स्मृति सम्मान ग्रहण करने  25 नवम्बर को मुजफ्फरपुर आए। इस…
और पढ़ें »
चौपाल

कश्मीरियों के लिए एक ही विकल्प है-भारत, मगर दिल पर दें दस्तक

ब्रह्मानंद ठाकुर कश्मीरी मूल के हिन्दी लेखक डाक्टर निदा नवाज पिछले दिनों मुजफ्फरपुर आए। डाक्टर निदा नवाज को उनकी पुस्तक ' सिसकियां लेता स्वर्ग ' के लिए  इस वर्ष के…
और पढ़ें »
चौपाल

पूंजीवाद और सामंतवाद की चक्की में पिसता किसान आंदोलन

शिरीष खरे आजकल देश में किसानों का बड़ा आंदोलन खड़ा करने की कोशिश चल रही है । जिसमें देशभर से किसान एक मंच पर आए हैं ताकि कारपोरेट सरकारों को…
और पढ़ें »
गांव के रंग

पशुपालन में छिपा है किसानों की खुशहाली का राज

पुष्यमित्र चार-पांच साल पहले झारखंड के एक गांव गया था । वह गांव सब्जी उत्पादन में अव्वल था । वहां के किसानों ने कहा कि वे पूरी तरह से जैविक…
और पढ़ें »
चौपाल

ग्रामीण भारत की बदहाली और आर्थिक विकास का लालीपॉप

शिरीष खरे भारत में ग्रामीण और शहरी अंचल के लिए निर्धनता का निर्धारण अलग-अलग तरह से होता है। एक आंकड़े के मुताबिक भारत के 75 प्रतिशत निर्धन गांवों में रहते…
और पढ़ें »
आईना

नन्हीं पीहू से प्यार और विनोद कापड़ी का पागलपन

विनोद कापड़ी फ़िल्म रिलीज़ होने में अब कुछ दिन बाक़ी हैं।अब पीहू फ़िल्म से जुड़ी कुछ कहानियाँ। सबसे पहले कैसे आया आइडिया और पहली बार कब मिली पीहू ?  …
और पढ़ें »