Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 97

बकरी तेल लगाती है, कंघी करती है… !

झाबुआ के डुंगरा धन्ना गांव में पहली-पहली ग्राम सभा!- फोटो- राकेश मालवीय शीर्षक को समझने के लिए आपको यह लेख पूरा पढ़ने की ज़हमत उठानी होगी। यह रिपोर्ट जो मैं…
और पढ़ें »

सच में…’हर खेत को पानी’ मिलेगा!

ये मुस्कान उम्मीदों की है। क्या हमारे गांव के खेत को भी पानी मिलेगा?  क्या अब कभी सूखे की मार नहीं पड़ेगी?  क्या पानी के लिए अब ट्यूबवेल पर मार…
और पढ़ें »

कोमल मन का पहाड़ सा हौसला

फोटोग्राफर की भूमिका में लेखिका मृदुला शुक्ला पहाड़ पर खेतों से खर पतवार निकाल जमीन में बीज रोपती हैं पहाड़ी औरतें | वे बैल हैं और हल का मूठ पकड़े…
और पढ़ें »

‘बदलाव’ की ओर एक कदम और…

विनय स्मृति कार्यक्रम- वेबसाइट की घोषणा के दौरान मौजूद मधेपुरा के स्थानीय साथी मधेपुरा में विनय स्मृति कार्यक्रम के दौरान 'बदलेगा गांव, बदलेगा देश' के नारे के साथ बदलाव डॉट…
और पढ़ें »