Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 77

जब राइन से मिलने जर्मनी पहुंची गंगा!

सत्येंद्र कुमार गंगा को हम सब मां, जीवनदायिनी,  मोक्षदायिनी और कई नामों से पुकारते हैं। गंगा जल के बिना हिंदुओं के घरों में कोई पवित्र काम नहीं होता। जन्म से…
और पढ़ें »

‘बंजर जमीन’ पर उम्मीद की एक बूंद!

किसानों के बीच नाना पाटेकर एपी यादव की रिपोर्ट भादो का महीना अपनी ढलान पर है, किसान आसमान में टकटकी लगाए बैठा है, धरती फटती जा रही है, जमीन बंजर…
और पढ़ें »

गंगा का आंगन बुहारती पूर्वोत्तर की बेटियां

सत्येंद्र कुमार ट्विटर पर टेमसुतुला इमसोंग की टीम की तस्वीरें करीब एक साल से देख रहा हूं। ये अपनी टीम के साथ काशी में ठीक उसी तरह से मां गंगा…
और पढ़ें »

रूठे बदरा, सूखी ज़मीन… देखो न सरकार

अरुण प्रकाश दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश की विडंबना कुछ ऐसी कि एक सूबे के चुनाव में सब कुछ भूल सा गया है । एक राज्य के चुनाव के…
और पढ़ें »

बिहार में होगी ‘अच्छे दिन’ की बड़ी आजमाइश

देवेंद्र शुक्ला दिल्ली के बाद विधानसभा चुनावों का अगला पड़ाव बिहार। और सवाल ये कि बिहार में बयार किसकी या अच्छे दिन किसके? यूं तो "अच्छे दिन आएंगे" हालिया भारतीय राजनीति का…
और पढ़ें »

ऐ हिंदी, वो करते रहें फ़िक्र, हम तो तुम पे फिदा हैं

विश्व हिन्दी सम्मेलन, भोपाल से ज़ैग़म मुर्तज़ा विश्व हिंदी सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी। फोटो-पीआईबी हिंदी दुनिया की चौथी सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा है। दुनिया भर में 100 करोड़ से…
और पढ़ें »

सरकार, कैसे हैं मुखियाजी के ‘मास्टरसाब’?

 कुबेरनाथ स्रोत- बिहार के सरकारी स्कूलों की स्थिति में कुछ सुधार तो हुआ है लेकिन शिक्षा में नहीं। लालू राज में स्कूलों की हालत बदतर हो गई थी। उस समय…
और पढ़ें »
मेरा गांव, मेरा देश

24 X 7… ये फ्री सेवा तो गुरुओं की ही है!

सत्येंद्र कुमार माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रों के मिलन की तस्वीर। लोग कहते हैं कि ज्ञान घोलकर नहीं पिलाया जा सकता लेकिन मेरी ज़िंदगी में ऐसे कई गुरु…
और पढ़ें »

वो जिन्होंने ‘बदलाव’ का ज्ञान और मान बढ़ाया

हरदोई के प्रधानाचार्य के मन की बातें बिजनौर के शिक्षक निशांत यादव की रिपोर्ट। रामपुर इंटर कॉलेज में शिक्षक शरत कुमार की रिपोर्ट वो जो पढ़ने और सीखने की ललक…
और पढ़ें »

अजीत, सलाखों में कैसे गुन लेते हो हसीन सपने?

रविकांत चंदन बनारस के कैदी अजीत कुमार सरोज ने इग्नू के एक डिप्लोमा कोर्स में टॉप स्थान हासिल किया। प्रतिशोध, नफरत और ना उम्मीदी के बीच आयी एक अच्छी खबर…
और पढ़ें »