Archives for मेरा गांव, मेरा देश - Page 66

बदलाव बाल क्लब की पहली पाठशाला

सत्येंद्र कुमार यादव बदलाव की चौपाल के बाद अब बदलाव बाल क्लब की पहली वर्कशॉप। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के वैशाली सेक्टर 6 में बदलाव बाल क्लब की पहली 'पाठशाला' लगी तो उसमें…
और पढ़ें »

जीत पर जयकारे और हार पर दुत्कार से आगे क्या है?

5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद हर तरफ सियासी महफिल सजी है। चर्चा हार-जीत और उसकी वजहों को लेकर हो रही है। बीजेपी और टीम मोदी के…
और पढ़ें »

‘कातिल कार्ड’ और कमीशन के जाल से किसान बेहाल

आशीष सागर बुंदेलखंड में शायद ही कोई दिन ऐसा हो जब एक किसान खुदकुशी को मजबूर न हो । इसकी वजह भी सभी को मालूम है । कर्ज के बोझ…
और पढ़ें »

स्मार्ट सिटी चाहिए लेकिन स्मार्ट कलेक्टर से परहेज !

काला चश्मा पहनकर पीएम से हाथ मिलाते हुए कलेक्टर अमित कटारिया बरुण सखाजी हमें स्मार्ट सिटी चाहिए, स्मार्ट सरकार, स्मार्ट कार्ड, स्मार्ट फोन, स्मार्ट पत्नी, स्मार्ट क्लास और स्मार्ट टीवी…
और पढ़ें »

हमारे विकल्पों में युद्ध न हो, युद्ध का उन्माद न हो

पन्ना लाल करगिल और ट्रॉय की जंग। युद्ध की दो कथाएं। शौर्य और पराक्रम की दो दास्तान। करगिल की जंग हमने लड़ी और ट्रॉय ग्रीक माइथोलॉजी से निकला। महान यूनानी…
और पढ़ें »

कच्ची ख्वाहिशें, पकता मन

बिहार के सुप्रसिद्ध चित्रकार राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की कृति। याद आये तुम जैसे याद आने लगते हैं बच्चे घर से बाहर जाते ही जैसे जान लगाकर उड़ती चिड़ियाँ को याद…
और पढ़ें »

थोड़ा खर्च और किसानों को 100 गुना मुनाफा

अरुण यादव गांवों में गेहूं की कटाई-मड़ाई हो चुकी हैं । लगन बारात भी निपटा चुका है लिहाजा किसान कुछ फुरसत में होंगे । इस वक्त गांव फोन करिये तो…
और पढ़ें »

कैंसर पीड़ित मासूमों के चेहरे पर ‘मुस्कान’ ही मकसद

सत्येंद्र कुमार यादव एम्स जाएं तो कैनकिड्स की मदद जरूर लें। आपकी मदद के लिए। दिल्ली के एम्स का नाम सुनते हैं लोंगों के मन में कई सवाल उठने लगते…
और पढ़ें »

आईएएस की ट्रेनिंग… गांवों को दिलाया स्वच्छता का संकल्प

उत्तराखंड के आबली गांव के लोगों को स्वच्छता के लिए जागरुक करते IAS अफसर । निशांत जैन 'स्वच्छ भारत का इरादा कर लिया हमने, देश से अपने, ये वादा कर…
और पढ़ें »

आपकी सजगता ही उनका जीवन है !

  उमेश कुमार लगभग डेढ़ साल पहले 04 दिसम्बर2014 को बरेली से लखनऊ की बस यात्रा के दौरान अखबार में छपी एक खबर पर मेरी नजर पड़ी । खबर का शीर्षक…
और पढ़ें »